Times Bull
News in Hindi

क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले सचिन तेंदुलकर से जुड़ी कुछ रोचक बातें

जब भी क्रिकेट की बात होती है तो सचिन तेंदुलकर की बात ना हो ऐसा हो ही नहीं सकता. दरअसल मास्टर ब्लास्टर सचिन को क्रिकेट का भगवान कहा जाता है और क्रिकेट के फैन सचिन को सबकुछ मानते हैं. सचिन क्रिकेट की दुनिया के ऐसे लोकप्रिय खिलाड़ी हैं जिन्होंने बहुत से रिकॉर्ड अपने नाम किये और उनकी लोकप्रियता सिर्फ भारत में ही नहीं बल्कि देश के बाहर भी हैं. साल 2017 में सचिन पर एक डॉक्यूमेंट्री फिल्म ‘सचिन – ए बिलियन ड्रीम्स’ भी बनाई गई और उस डॉक्यूमेंट्री को उनके फैंस ने हिट बना दिया.

आज हम रोचक सफर में आपको सचिन तेंदुलकर के जीवन से जुड़ी कुछ बातें बताने जा रहे हैं..

1. सचिन तेंदुलकर का जन्म 24 अप्रैल 1973 को मुंबई में हुआ था. उनके पिता रमेश तेंदुलकर और मां रजनी तेंदुलकर हैं. लोग सचिन को गॉड ऑफ क्रिकेटर, मास्टर ब्लास्टर, लिटिल मास्टर और तेंदल्या के नाम से भी जानते हैं.

2. बहुत कम लोग जानते हैं कि सचिन अपने पिता रमेश तेंदुलकर की दूसरी पत्‍नी के बेटे हैं. रमेश तेंदुलकर की पहली पत्‍नी से तीन संताने अजीत, नितिन और सविता हुए थे.

3. बचपन में अगर सचिन नेट्स में पूरा शतक लगाए बिना आउट हुए खेल लेते थे, तो उनके कोच ‘रमाकांत अचरेकर’ उन्हें एक सिक्का देते थे. सचिन के पास ऐसे 13 सिक्कों का कलेक्शन है.

4. मुंबई के ब्रेबॉर्न स्टेडियम में साल 1988 में खेले गए एक दिवसीय अभ्यास मैच में सचिन तेंदुलकर ने पाकिस्तान के लिए फिल्डिंग की थी.

5. जब सचिन सिर्फ 14 साल के थे तब Sunil Gavaskar ने उन्हें बहुत ही हल्के पैड तोहफे में दिए थे. जो अंडर-15 टीम के कैंप के दौरान Indore में पैड चोरी हो गए थे.

6. गेंदबाजों को दिन में तारे दिखाने वाले सचिन को नींद में चलने की बीमारी है. एक बार एक इंटरव्यू के दौरान उन्होंने इस बात का खुलासा किया था. उनकी इसी आदत के कारण अकसर उनके घरवाले और टीम के साथी खिलाड़ी परेशान रहते हैं.

7. सचिन तेंदुलकर Left Hander हैं. वैसे तो सचिन सीधे हाथ से बल्लेबाजी करते हैं और बॉलिंग में भी उनका सीधा हाथ काम करता है लेकिन Autograph देने के लिए वे बायें हाथ का इस्तेमाल करते हैं.

8. Dennis Lillee और सचिन तेंदुलकर के रिश्ते पर काफी बात हुई है. M.R.F के फाउंडर लिली ने ही सचिन को गेंदबाजी छोड़ बल्लेबाजी पर ध्यान देने की सलाह दी थी. लिली ने जिन खिलाड़ियों को तेज़ गेंदबाज़ बनने से मना किया उनमें सौरव गौंगुली भी शामिल थे.

9. साल 1995 में सचिन तेंदुलकर नकली मूंछ-दाढ़ी और चश्मा लगाकर फ़िल्म ‘रोजा’ देखने गए थे लेकिन उनका चश्मा गिरते ही सिनेमा हॉल में मौजदू लोगों ने उन्हें पहचान लिया.

10. सचिन तेंदुलकर 14 साल की उम्र में मुंबई की रणजी टीम में शामिल हो गए थे. इतनी कम उम्र में मुंबई की Ranji Team में शामिल होने वाले वे पहले खिलाड़ी थे.

11. साल 1996 के विश्वकप में सचिन के बल्ले पर किसी भी कंपनी का लोगो नहीं था. विश्वकप के तुरंत बाद टायर बनने वाली कंपनी MRF ने उनसे करार कर लिया था.

12. सचिन तेंदुलकर ने रणजी, दलीप और ईरानी ट्राफ़ी के अपने पहले ही मैचों में शतक जमाए. ऐसा करने वाले वे भारत के एकमात्र बल्लेबाज़ हैं. उनका यह रिकॉर्ड आज तक कोई नहीं तोड़ पाया है.

13. सचिन ने अपने ज्यादातर बड़े स्कोर गोकुलाष्टमी, होली, रक्षा बंधन और दीपावली जैसे भारतीय त्योहारों पर ही बनाए हैं और अपने टेस्ट करियर में कभी तीसरे क्रम पर बल्लेबाजी नहीं की. बतौर सेकंड ओपनर वे कुल 1 बार उतरे.

14. सचिन के नाम एक खास रिकॉर्ड दर्ज है. वे जिस भी Ranji Match में खेले हैं, उनकी टीम हर बार विजयी रही है. सचिन अपनी Ferrari के इतने दीवाने हैं कि वे अपनी पत्नी Anjali को भी इसे चलाने नहीं देते.

15. Third Umpire द्वारा आउट दिए जाने वाले पहले बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर हैं. 1992 में, डरबन में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ़ खेले जा रहे टेस्ट मैच के दूसरे दिन जोंटी रोड्स के थ्रो के बाद यह मामला तीसरे अंपायर को रेफ़र किया गया. अंपायर कार्ल लाएबनबर्ग ने सचिन को आउट करार दिया था.

16. सचिन तेंदुलकर का बैट लगभग 1.5 किलोग्राम का होता था. इतना भारी बल्ला सिर्फ़ दक्षिण अफ्रीका के लांस क्लूजनर इस्तेमाल करते थे.

17. वे क्रिकेट के इतिहास में विश्व के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज़ौं में गिने जाते हैं. भारत के सर्वोच्च नागरिक सम्मान भारत रत्न से सम्मानित होने वाले वह सर्वप्रथम खिलाड़ी और सबसे कम उम्र के व्यक्ति हैं.

18. राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार से सम्मानित एकमात्र क्रिकेट खिलाड़ी हैं. साल 2008 में वे पद्म विभूषण से भी पुरस्कृत किये जा चुके है. साल 1989 में अन्तर्राष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण के पश्चात् वह बल्लेबाजी में कई कीर्तिमान स्थापित किए हैं. उन्होंने टेस्ट व एक दिवसीय क्रिकेट, दोनों में सर्वाधिक शतक अर्जित किये हैं.

19. सचिन तेंदुलकर टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज़्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज़ हैं. इसके साथ ही टेस्ट क्रिकेट में 14000 से अधिक रन बनाने वाले वह विश्व के एकमात्र खिलाड़ी हैं. वन-डे मैचों में भी उन्हें कुल सर्वाधिक रन बनाने का कीर्तिमान प्राप्त है. उन्होंने अपना पहला प्रथम श्रेणी क्रिकेट मैच मुम्बई के लिये 24 साल की उम्र में खेला था. उनके अन्तर्राष्ट्रीय खेल की शुरुआत साल 1989 में पाकिस्तान के खिलाफ कराची से हुई.

20. सचिन क्रिकेट के अलावा अपने ही नाम के एक सफल रेस्टोरेंट के मालिक भी हैं. वे राज्य सभा के सदस्य भी हैं. साल 2012 में उन्हें राज्य सभा के सदस्य के रूप में नामित किया गया था.

21. सचिन तेंदुलकर के जीवन पर एक डॉक्यूमेंट्री बनी जिसे लोगों ने बहुत पसंद किया. इस डॉक्यूमैंट्री को जेम्स एरस्किन ने निर्देशित किया था और फिल्म का म्यूजिक ए. आर. रहमान ने तैयार किया था.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.