लक्ष्मण की 281 रन की पारी ने मेरे करियर को बचा लिया : गांगुली

पूर्व भारतीय कप्तान सौरव गांगुली ने बुधवार को कहा कि 2001 में ईडन गार्डन्स में आस्ट्रेलिया के खिलाफ खेली गई वीवीएस लक्ष्मण की 281 रन की पारी ने उनके करियर को बचा लिया। गांगुली ने यहां लक्ष्मण की आत्मकथा ‘281 एंड बियॉन्ड्स’ के विमोचन के दौरान यह बात कही। 

उन्होंने कहा कि लक्ष्मण की दूसरी पारी में खेली गई उस मैराथन पारी ने न सिर्फ देश को बचाया बल्कि एक कप्तान के रूप में उनकी भी काफी मदद की। 

गांगुली ने कहा, ” किताब का शीर्षक सही नहीं है। यह ‘281 एंड बियॉन्ड्स एंड सेव्ड गांगुली करियर’ होना चाहिए।” 

उन्होंने कहा, “यदि वह 281 का स्कोर नहीं किए होते तो हम मैच हार गए होते।” 

वहीं, लक्ष्मण ने कहा, “आखिरी दिन चायकाल के बाद मुझे विश्वास होने लगा कि हम जीत सकते हैं।” 

उन्होंने कहा, “ईडन गार्डन्स में उस जीत ने न केवल भारतीय क्रिकेट की मदद की बल्कि हमें जीवन के सबक भी सिखाए। हमें कभी हार नहीं माननी चाहिए। हमेशा हर समस्या का हल ढूंढने का प्रयास करना चाहिए।” 

लक्ष्मण ने कहा कि 2003 के विश्व कप में नहीं चुने जाने के बाद उन्होंने क्रिकेट को छोड़ने का मन बना लिया था। 

पूर्व बल्लेबाज ने कहा, “यह मेरे करियर का सबसे खराब समय था। मैं उस समय भारत-ए टीम के साथ था। मैं भारत-ए दौरे के लिए नहीं जाना चाहता था लेकिन मेरे पिता ने मुझे ऐसा करने को कहा। बाद में, मैं समय बिताने के लिए अमेरिका चला गया और मुझे लगा कि मैं दोबारा नहीं खेल पाऊंगा।” 

Loading...

You might also like