Times Bull
News in Hindi

सचिन तेंदुलकर के बचपन से जुड़े रोचक इंसिडेंट

Interesting Incident Of – 2014 में की ऑटोबायोग्राफी (प्लेइंग इट माय वे) प्रकाशित हुई थी। इसमें उनके जीवन से जुडी कई पर्सनल बातें और रोचक इंसिडेंट पहली बार सामने आए था। यहाँ हम सचिन की लाइफ की कुछ ऐसी ही इंटरेस्टिंग बातें बता रहा है। ये इंसीडेंट्स सचिन के साथ 12 साल की उम्र तक हुए।

चाइनीज खाने के लिए किया चंदा, फिर भी रह गए थे भूखे

जब सचिन 9 साल के थे, उन्होंने फ्रेंड्स के साथ बाहर चाइनीड फूड खाने का प्लान बनाया। सभी ने 10-10 रुपए चंदा किया। होटल में स्टारटर के तौर पर सूप और चिकन ऑर्डर किया गया। यहां सचिन सबसे लास्ट में बैठे थे और उनतक सूप पहुंचते-पहुंचते खत्म हो चुका था। ग्रुप के बड़े लड़कों ने फ्राइड राइस और चाऊमीन के साथ भी ऐसा ही किया। सचिन को मुश्किल से ये दोनों चीजें 2 चम्मच ही खाने को मिली थीं और वो भूखे ही घर लौट आए थे।

जब पहली बार खाया चिकन तंदूरी

सचिन ने पहली बार ये डिश 10 साल की उम्र में खाई थी। तब वो सबसे बड़े भाई नितिन के साथ एक फ्लाइट का इंतजार कर रहे थे। फ्लाइट लेट होने पर उन्होंने डिनर किया। पहली बार खाने पर ही चिकन तंदूरी सचिन की फेवरेट डिश बन गई थी।

कई कारों के मालिक सचिन को कभी करनी पड़ी थी साइकिल के लिए जिद

सचिन के सभी दोस्तों के पास साइकिल थी। उन्होंने भी पेरेंट्स से इसके लिए जिद की और कहा कि जब तक उनकी नई साइकिल नहीं आएगी वो नीचे खेलने नहीं जाएंगे। करीब 1 हफ्ते तक सचिन गुस्से में घर पर ही बंद रहे और बालकनी (ग्रिल लगी हुई) से नीचे झांकते थे। एक बार सचिन ने ग्रिल में सिर फंसा लिया था। करीब आधे घंटे की मशक्कत के बाद वो निकल सके थे। इस घटना से घबराए उनके पिता ने तुरंत साइकिल ला दी थी।

कुछ ही घंटों में हुआ एक्सीडेंट

नई साइकिल आने के कुछ घंटों में ही सचिन का एक्सीडेंट हो गया था। दरअसल, सचिन बहुत तेज साइकिल चला रहे थे। तभी उनके सामने सब्जी का ठेला आ गया। सचिन ब्रेक नहीं लगा सके और हवा में उछल गए थे। तब उन्हें खुद से ज्यादा नई साइकिल की चिंता थी। इस एक्सीडेंट में उनकी आंख के ऊपर 8 टांके आए थे। तब ठीक होने तक सचिन से साइकिल छीन ली गई थी।

पड़ोसियों के फ्लैट कर देते थे बाहर से बंद

1971 से सचिन की फैमिली साहित्य सहवास सोसाइटी में रह रही थी। सचिन का जन्म 1973 में हुआ। सचिन फोर्थ फ्लोर पर रहते थे। वो और उनके दोस्त अक्सर शरारत में पड़ोसियों के फ्लैट बाहर से बंद कर देते थे।

जब सचिन बने विकेटकीपर, हुआ था हादसा

12 साल के सचिन शिवाजी पार्क में एक मैच खेल रहे थे। वो टीम के कप्तान थे। टीम का विकेटकीपर चोटिल हो गया तो उन्होंने बाकी प्लेयर्स से विकेटकीपिंग करने के लिए पूछा। जब कोई तैयार नहीं हुआ तो सचिन खुद ही ग्लव्स पहनकर तैयार हो गए। उन्होंने पहले कभी ये नहीं किया था। वो काफी मुश्किल में थे, तभी एक बॉल तेजी से उनकी आंख के पास लगती हुई गुजरी। सचिन के चेहरे से खून बहने लगा। वो इस स्थिति में बस से घर नहीं जाना चाहते थे। उन्होंने दोस्तों से लिफ्ट मांगी, लेकिन किसी ने हेल्प नहीं की। तब किटबैग लिए और खून बहने की स्थिति में ही सचिन पैदल घर के लिए चल दिए थे।

सचिन का दूसरा प्यार

सचिन तब से म्यूजिक सुनते आ रहे हैं, जब उन्हें इसकी समझ तक नहीं थी। पिता और दोनों बड़े भाइयों को संगीत पसंद था। इसलिए घर में रेडियो जरूर बजता था। कुछ दिनों बाद कैसेट प्लेयर आ गया, जिसमें हर कोई अपनी पसंद के गाने सुन सकता था। सचिन के दोनों बड़े भाई गजल गायक पंकज उधास के फैन रहे हैं। सचिन के लिए भी म्यूजिक उनका दूसरा प्यार (पहला क्रिकेट) है।

कश्मीर से आया था पहला बैट

सचिन के लिए उनका पहला बैट काफी स्पेशल है। ये बैट उनकी बड़ी बहन सविता कश्मीर से लाई थीं। सविता एक हॉलिडे ट्रिप के लिए कश्मीर गई थीं। तब सचिन 5 साल के थे।

रोचक और मजेदार खबरों के लिए अभी डाउनलोड करें Hindi News APP

Related posts

रोचक और मजेदार खबरों के लिए अभी डाउनलोड करें Hindi News APP

Get real time updates directly on you device, subscribe now.