News in Hindi

शुरू हुई भारत की सबसे तेज ट्रेन तेजस, यहां जानें क्या हैं खूबियां

भारत की सबसे तेज ट्रेन चलने का सपना अब पूरा हो गया है। अत्याधुनिक सेवाओं से लैस तेजस सोमवार को अपने पहले सफर पर निकलेगी। यह सफर मुंबई से गोवा के बीच होगा। इसके लिए रेलमंत्री सुरेश प्रभु मुंबई में ट्रेन को हरी झंडी दिखाएंगे। भारत में बुलेट ट्रेन चलाने के सपने की तरफ पहला कदम यानी कि तेजस की रफ्तार करीब 200 किलोमीटर प्रति घंटा होगी।

यह हैं सुविधाएं

तेजस ट्रेन में जो सुविधाएं दी गई हैं वह अभी तक भारतीय रेल की किसी भी ट्रेन में नहीं दी गई थीं। इस ट्रेन में सीसीटीवी कैमरे, एलईडी टीवी, चाय और कॉफी वेंडिंग मशीनें, जीपीएस बेस्ट यात्री सूचना डिस्प्ले और धुआं और आग से बचाने वाली ऑटोमेटेड प्रणाली भी लगी हुई है।

इसके अलावा तेजस ट्रेन की बोगियों को इस तरीके से डिजाइन किया गया है कि इतनी रफ्तार के बावजूद इसमें बैठे यात्रियों को झटके नहीं लगेंगे और वे आसानी से एक बोगी से दूसरी बोगी में जा पाएंगे। इतना ही नहीं इसके ऑटोमैटिक दरवाजों को मेट्रो की तरह डिजाइन किया गया है, यानी सारे दरवाजे एक साथ बंद होंगे और दरवाजों के बीच कुछ आ जाने की स्थिति में सभी दरवाजे खुल जाएंगे और जब तक दरवाजे बंद नहीं होंगे, ट्रेन आगे नहीं बढ़ेगी।

सफर करना है महंगा

बेशक यह देश की सबसे तेज ट्रेन है तो इसका किराया ज्यादा होना लाजमी है। तेजस का किराया शताब्दी ट्रेनों से 20 प्रतिशत तक महंगा होगा। इसके अलावा इसमें सुपरफास्ट चार्ज, आरक्षण चार्ज आौर खानपान शुल्क अलग से लगाए जाएंगे। बिना भोजन के एक्जिक्यूटिव क्लास का किराया 2540 रुपए तय होगा। वहीं भोजन सहित किराया 2940 रुपए हो जाएगा।

भोजन के साथ चेयर कार का किराया 1850 रुपए होगा, जबकि भोजन के बिना यह किराया 1220 रुपए होगा। तेजस की घोषणा बजट में हुई थी, इसे मुंबई-गोवा के अलावा दिल्ली-चंडीगढ़ और दिल्ली-लखनऊ के बीच भी चलाने की योजना है।