News in Hindi

बैंक में जमा करवाने जा रहे हैं पैसे, इन तरीकों से बचाएं टैक्स

जब से पीएम नरेंद्र मोदी ने 500 और 1000 रुपए के नोट बंद किए हैं तबसे ही लोग नोट बदलने और अपने बैंक अकाउंट में पैसे जमा करने के लिए बैंकों में भीड़ लगी हुई है। लोगों को इस समय सबसे ज्यादा चिंता इनकम टैक्स विभाग के शिकंजे में फंसने की है। यह सच है कि इस वक्त हर बैंक अकाउंट पर सरकार की नजर है। ऐसे में यहां पढ़ें कि इस समय अकाउंट में पैसा जमा करने और नोट बदलने में आपको क्या सावधानियां बरतनी चाहिए।

एक लाख रुपए तक कोई नहीं पूछेगा सवाल

सैलेरीड क्लास, हाउसवाइफ या छोटे सर्विस प्रोवाइडर्स अगर अपने अकाउंट में 1 लाख रुपए तक जमा करवाते हैं या एक लाख रुपए के पुराने नोट बदल कर नए नोट लेते हैं तो उन्हें किसी तरह की कोई परेशानी नहीं आएगी। इस स्थित में इनकम टैक्स विभाग के किसी भी सवाल का सामना नहीं करना पड़ेगा।

इनकम टैक्स रिटर्न भरें

अगर आप बैंक में 50000 या एक लाख रुपए जमा करवा रहे हैं तो आपको मर्चा 2016 तक और मार्च 2017 का रिटर्न भरना चाहिए, इससे आप सेफर साइड पर आ जाएंगे। मार्च 2016 का रिटर्न अब भी भरा जा सकता है। अगर आप इनकम टैक्स रिटर्न नहीं भरते हैं और बैंक में एक या दो लाख रुपए जमा करते हैं तो इनकम टैक्स विभाग की नजर में आ सकते हैं।

income-tax-return

सेविंग्स अकाउंट में 10 लाख से ज्यादा न करें जमा

अगर बैंक में आपका सेविंग्स अकाउंट या बचत खाता है तो आपको इसमें 10 लाख रुपए से ज्यादा न तो जमा करना चाहिए और न ही एक्सचेंज करवाना चाहिए। 10 लाख रुपए की रकम बड़ी होती है। इससे ज्यादा की राशि इनकम टैक्स डिपार्टमेंट की स्क्रूटनी में आ सकती है।

बदल सकते हैं इनकम टैक्स के नियम

इनकम टैक्स विभाग अगले साल स्क्रूटनी के नियमों में बदलाव कर सकता है। हो सकता है कि इनकम टैक्स विभाग अकांउट में 2.5 लाख, 5 लाख या 10 लाख से अधिक राशि जमा होने वाले अकाउंट धारक को अलर्ट पर डाल दे और टैक्स नोटिस भेज दे।

464778-taxcollage

अपनी इनकम के हिसाब से जा करें पैसे

अपनी इनकम के हिसाब से ही बैंक में पैसा जमा करवाएं। अगर आपकी सालाना इनकम 5 लाख है और आप अकाउंट में 10 लाख या 15 लाख रुपए जमा करवा रहे हैं तो आपको इनकम टैक्स विभाग का नोटिस आ सकता है। अगर आपने इनकम टैक्स रिटर्न में अपनी आय 5 लाख रुपए डिक्लेयर की हुई है तो आपको ध्यान रखना होगा कि आप जो भी रकम अकाउंट में जमा करवा रहे हैं यह उससे बहुत ज्यादा न हो।