कांच से बनी कई चीजों का इस्तेमाल हर घर में होता है। लेकिन आपने देखा होगा कि अक्सर घर का शीशा टूटने से लोगों के मन में हमेशा यहसंशय बना रहता है कि यह शुभ होगा या अशुभ। तो आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि कौन सा शीशा शुभ है और कौन सा अशुभ। घर में पड़ीकांच की वस्तु का टूटना परिवार पर किसी बड़े संकट का संकेत देता है। जब हम सभी दर्पण में छाया देखते हैं, तो हमें आत्मा दिखाई देती है। ऐसेमें शीशा टूटने से आत्मा की मौत हो जाती है. जिससे उसे कई तरह की दिक्कतों का सामना करना पड़ता है।

वास्तु के अनुसार अगर किसी से शीशा टूट जाए तो उसे किसी बगीचे में बने कुंड में अपना प्रतिबिंब देखना चाहिए। इससे उसे तकलीफ नहीं होतीहै। शीशा टूटने पर हम उसे कई दिनों तक घर में रखते हैं। लेकिन घर में टूटा हुआ शीशा रखना अशुभ होता है। यह ग्लास घर में नकारात्मक ऊर्जाफैलाने का काम करता है।

इसलिए कांच के टूटते ही उसे बाहर फेंक देना चाहिए। कभी भी गोल या अंडाकार गिलास खरीदें। इससे सकारात्मक ऊर्जा को नकारात्मकऊर्जा में बदला जा सकता है। घर में हमेशा चौकोर आकार का शीशा लगाएं। कांच का फ्रेम हल्का नीला, क्रीम, सफेद, हल्का भूरा आदि रंग काफ्रेम खरीदना चाहिए।

अगर शीशे में दरार जाए तो उसे तुरंत घर से बाहर फेंक दें। साथ ही जब कोई शीशा अचानक टूट जाता है तो यह माना जाता है कि परिवारको प्रभावित करने वाला कोई बड़ा खतरा या समस्या अब टल गई है।

यहां भी जरूर पढ़े : Old Coins : अगर आपके पास नहीं है कोई जॉब,तो पुराने सिक्कों को बेचकर खड़ा करें करोड़ों का बिजनेस 

यहां भी जरूर पढ़े : Earn Money: 100 रुपये का ये नोट आपको रातों रात बना देगा लखपति

Recent Posts