News in Hindi

आईएएस अफसर लेंगे शहीदों के परिवारों को गोद

अभिनेता अक्षय कुमार के शहीदों के परिवारों तक आर्थिक मदद पहुंचाने के लिए पोर्टल तैयार करवाने के बाद अब शहीदों के परिवारों के लिए एक और राहत भरी खबर है। अब आईएएस अफसर शहीदों के परिवारों को गोद लेंगे। शहीद के इलाके में तैनात आईएएस आफिसर उसके घर जाएगा। उसे मिलने वाली पेंशन, ग्रेच्युटी, नौकरी या पेट्रोल पंप अलॉटमेंट जैसी जरूरतों में उनकी मदद करेगा। हालांकि उन्हें ऑफिसर की तरफ से सीधेतौर पर पैसों की कोई मदद नहीं की जाएगी।

देशभर में आईएएस ऑफिसर्स की अगुआई करने वाली इंडियन सिविल एंड एडमिनिस्ट्रेटिव सर्विस एसोसिएशन के सचिव संजय भूसरेड्डी ने कहा – आईएएस ऑफिसर्स का काम है कि वे ऐसे परिवारों को संबंधित सरकारों से उनका बकाया दिलाएं। वो उनके बच्चों का स्कूल में एडमिशन कराने में भी मदद कर सकते हैं।

शुरुआती तौर पर 2012-15 की भर्ती वाले 700 युवा ऑफिसर्स को यह जिम्मदारी दी गई है। उनसे कहा गया है कि वो अपनी पोस्टिंग वाले इलाके के किसी एक शहीद के परिवार को गोद लें। इसके अलावा सीनियर ऑफिसर्स या स्टेट सिविल सर्विस के ऑफिसर्स भी अपनी इच्छा से किसी शहीद के परिवार को गोद ले सकते हंै।

इन आफसरों की यह जिम्मेदारी होगी कि शहीद के परिवार को स्टेट या लोकल गर्वनमेंट की ओर से अगर कोई मदद का वादा किया गया है तो वह उन्हें मिले, शहीद के बच्चे लगातार बेहतर एजुकेशन लें। इसके अलावा ये ऑफिसर्स यह भी देखेंगे कि क्या शहीद के परिवार को स्किल इंडिया, स्टार्ट-अप इंडिया या डिजिटल इंडिया जैसी किसी सरकार सरकारी स्कीम का फायदा मिल सकता है।