News in Hindi

महाशिवरात्रि 2017 : भूल कर भी न करें शिव पूजा में ये गलतियां

देवों के देव महादेव का पर्व महाशिवरात्रि इस बार 24 फरवरी को आ रहा है। शिव एकमात्र ऐसे देवता हैं जिनकी लिंग रूप में भी पूजा की जाती है। शिव को प्रसन्न करने के लिए उन्हें ऐसी चीजें अर्पित की जाती हैं ।
जो किसी और देवता को नहीं चढ़ाई जाती, जैसे आंक, ​बिल्वपत्र, भांग आदि। महाशिवरात्रि पर पूजा के दौरान भूलकर भी ये चीजें शिवजी पर नहीं चढ़ानी चाहिए —
हल्दी
बेशकर कई पूजन कार्य हल्दी के बिना अधूरे माने जाते हैं, लेकिन शिवजी को हल्दी अर्पित नहीं की जाती। शास्त्रों के अनुसार शिवलिंग पुरुषत्व का प्रतीक है, जबकि हल्दी को स्त्री सौंदर्य प्रसाधन माना जाता है।
जलाधारी पर हल्दी
हल्दी को शिवलिंग की बजाए जलाधारी पर चढ़ाई जानी चाहिए। शिवलिंग दो भागों से मिलकर बनता है। एक भाग शिवजी का प्रतीक है और दूसरा हिस्सा माता पार्वती का। जलाधारी मां पार्वती से संबंधित है इसलिए सइ पर हल्दी अर्पित की जा सकती है।
लाल रंग के फूल
शिव को कनेर, कमल और लाल रंग के फूल प्रिय नहीं हैं। शिव को केतकी और केवड़े के फूल चढ़ाना निषेध है। सफेद रंग के फूलों से शिव जल्दी प्रसन्न होते हैं। शिव कल्याण के देवता हैं। वे शुभ्र हैं, सौम्य हैं, शाश्वत हैं, वह श्वेत भाव वाले हैं।