News in Hindi

लेबर डे : पीएम मोदी ने किया कर्मचारियों के जज्बे को सलाम

लेबर डे के अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तमाम कर्मचारियों के जज्बे को सलाम किया और कहा कि देश की उन्नति में इन कर्मचारियों का बड़ा योगदान है। पीएम मोदी ने ट्विटर पर लिखा – आज लेबर डे के अवसर पर हम देश के अनगिनत कर्मचारियों के जज्बे और हार्डवर्क को सलाम करते हैं। भारत की उन्नति में उनका बड़ा योगदान है। सत्यमेव जयते!

इसके अलावा पीएम मोदी ने गुजरात और महाराष्ट्र को उनके फाउंडेशन डे की भी बधाई दी। आपकेा बता दें कि हर साल 1 मई को दुनिया के कई देशों में लेबर डे मनाया जाता है और इस दिन देश की ज्यादातर कंपनियां अपने कर्मचारियों को छुट्टी देती है। करीब 80 देश इस दिन को मनाते हैं।

भारत में ऐसे हुई थी मजदूर दिवस की शुुरआत

भातर में पहली बार 1923 को 1 मई के दिन लेबर डे मनाया गया था। उस समय लेबर किसा पार्टी ऑफ हिंदुस्तान ने मद्रास (अब चेन्नई) में इसकी शुरुआत की थी। हालांकि उस समय इसे मद्रास दिवस के रूप में मनाया जाता था। अंतरराष्ट्रीय तौर पर 1 मई 1886 को मजदूर दिवस मनाने की शुुरआत हुई थी। अमरीका के मजदूर संघों ने मिलकर यह फैसला किया था कि वे 8 घंटे से ज्यादा काम नहीं करेंगे। इसके लिए संगठनों ने हड़ताल की और इस दौरान शिकागो की हेमार्केट में बम ब्लास्ट हुआ। इससे निपटने के लिए पुलिस ने मजदूरों पर गोली चला दी, जिसमें कई मजदूरों की मौत हो गई और 100 से ज्यादा मजदूर घायल हो गए।

इसके बाद 1889 में अंतर्राष्ट्रीय समाजवादी सम्मेलन में ऐलान किया गया कि इस नरसंहार में मारे गए निर्दोष मजदूरों की याद में 1 मई को अंतर्राष्ट्रीय मजदूर दिवस के रूप में मनाया जाएगा। इस दिन सभी कामगार और श्रमिक अवकाश पर रहते हैं।