News in Hindi

जयपुर में भी शुरू हुई एंटी रोमियो स्क्वाड, 52 महिला पुलिस कर रहीं हैं रखवाली

शहर में लड़कियों की सुरक्षा बढ़ाने और उन्हें बेखौफ घूमने के लिए माहौल देने के लिए उदयपुर के बाद अब जयपुर में भी एंटी रोमियो स्क्वाड आ गई है। शहर भर में करीब 52 महिला पुलिसकर्मी स्कूटर पर पेट्रोलिंग करती नजर आती हैं। ये स्क्वाड मनचलों पर नजर रखती हैं।

जहां एक तरफ लोग इन्हें यूपी की एंटी रोमियो स्क्वाड से कम्पेयर कर रहे हैं, वहीं जयपुर पुलिस का कहना है कि यह सब हाइप क्रिएट करने के लिए नहीं, बल्कि शहर में लड़कियों के जीवन को सुरक्षित और आसान बनाने के लिए है। यह 52 महिला पुलिसकर्मी मार्केट, स्कूल, कॉलेजिस और शहर के अन्य इलाकों में पेट्रोलिंग करती नजर आ रही हैं।

इनका काम सुबह 6 बजे से ही शुरू हो जाता है और रात के 10 बजे तक ये सड़कों पर पेट्रोलिंग करती हैं। जयपुर के पुलिस कमिश्नर संजय अग्रवाल ने कहा कि हमने देखा है कि महिलाएं अपनी समस्याओं को पुलिस तक पहुंचाने में हिचकिचाती हैं, शायद अब महिला पुलिसकर्मियों से वे अपनी परेशानियां आसानी से कह सकें। यही ध्यान में रख कर हमने यह महिला पुलिसकर्मी टीम तैयार की है। यह टीम टू-व्हीलर्स पर ही पेट्रोलिंग करती है। महिलाएं इन्हें अपनी समस्या बेहिचक बता सकती हैं।

ये महिला कॉन्स्टेबल्स जहां भी किसी मनचले को किसी महिला से छेड़छाड़ करते देखेंगी, वहीं महिला या लड़की की मदद करने पहुंच जाएंगी। वे पुलिस कंट्रोल रूम में सूचना भी देंगी ताकि आगे की कार्रवाई की जा सके। बिरला मंदिर एरिया में पेट्रोलिंग करने वाली 23 वर्षीय निरमला मीणा ने बताया – हमारी कोशिश रहेगी कि ऐसे लोग हमारे कहने से ही समझ जाएं, लेकिन जरूरत पडऩे पर हम डंडा भी चला सकते हैं। ट्रेनिंग में तो हमने सीखा ही है, थाने में रिमांड में भी खूब चलाया है।

मंजू चौधरी ने कहा – बिरला मंदिर के आस पास काफी भीड़ रहती है। युवा क्राउड भी काफी आता है, लेकिन आज जब मैं और मेरी साथी कॉनस्टेबल वहां पहुंचे तो हमें देखकर लड़कों का ग्रुप तुरंत वहां से चला गया। आमतौर पर बड़े ग्रुप में ही कुछ लोग होते हैं जो लड़कियों को छेड़ते हैं। मुझे अच्छा लगा ये देखकर कि हमारी मौजूदगी से ही लड़के डर गए। गलती करने पर सजा का डर होना जरूरी है।