News in Hindi

जेटली ने कहा कि आमजन की सुविधा के लिए होगा जीएसटी

गुड्स एंड सर्विस टैक्स यानी कि ​जीएसटी पर स्थिति को कुछ स्पष्ट करते हुए वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा है कि जीएसटी व्यवसथा में कर की दर चौंकाने वाली नहीं होगी। उन्होंने कहा कि कर दरें मौजूदा स्तर से ज्यादा अलग नहीं होंगी, हालांकि जेटली ने कहा कि कंपनियों को जीएसटी के तहत करों में कटोती का लाभ उपभोक्ताओं को स्थानांतरित करना चाहिए।

18 व 19 मई को श्रीनगर में वित्त मंत्री की अगुवाई वाली जीएसटी परिषद की होने वाली बैठक में जीएसटी की दरों को अंतिम रूप दिया जाएगा। जेटली ने जानकारी दी कि जीएसटी के लिए सभी नियम और नियमन तैयार हो गए हैं। वित्त मंत्री ने सीआईआई की वार्षिक बैठक में कहा कि यह काम जिस फार्मूला के तहत किया जा रहा है, उसके बारे में भी बताया जा चुका है।

जीएसटी परिषद केंद्रीय उत्पाद कर, सेवा कर और वैट जैसे शुल्कों के एकीकरण के बाद जीएसटी परिषद ने चार दरों 5, 12, 18 और 28 प्रतिशत तय की हैं। जेटली ने कहा कि इसका फिटमेंट मौजूदा कराधान केंद्रीय और राज्य शुल्कों के पूरे प्रभाव को शामिल करने के बाद किया जाएगा। उसके बाद किसी सेवा या वस्तु को उसकी सबसे नजदीकी कर के दायरे में रखा जाएगा।