News in Hindi

1 मई के बाद खरीदें नया फ्लैट, आपको मिलेगा इतना बड़ा फायदा

नोटबंदी के बाद से ही देशभर में रियल एस्टेट बिजनेस थोड़ा मंदा चल रहा है। यही वजह है कि मौके का फायदा उठाते हुए लोग इन दिनों प्रॉपर्टी खरीदने में जुटे हैं। अगर आप भी नया फ्लैट खरीदने जा रहे हैं तो 1 मई तक का इंतजार करें। ऐसा हम इसलिए कह रहे हैं, क्योंकि 1 मई से रेग्युजलेशन एंड डेवलपमेंट एक्ट लागू हो रहा है।

एक्सपर्ट्स की मानें तो इससे देश के रियल एस्टेट सेक्टर में बड़ा बदलाव आएगा। इस एक्ट के अस्तित्व में आने के बाद रियल एस्टेट सेक्टर में पारदर्शिता आएगी और कंपनियों की जवाबदेही भी बढ़ेगी। यहां पढ़ें क्या क्या होंगे फायदे –

– हर राज्य में रियल एस्टेट रेग्युलेटरी अथॉरिटी की स्थापना अनिवार्य हो जाएगी। ये अथॉरिटी बिल्डर्स के खिलाफ शिकायतों का निपटारा करेंगी।

– वर्तमान में जिन प्रोजेक्ट्स पर काम चल रहा है वे भी अथॉरिटी के अंडर आएंगे और उन सभी प्रोजेक्ट्स का रजिस्ट्रेशन अनिवार्य होगा जिन्हें 500 वर्ग मीटर से ज्यादा की जमीन पर बनाया जा रहा है।

– बिल्डर या कंपनी को प्रोजेक्ट के लिए ग्राहकों से जुटाई गई राशि का 70 फीसदी अलग खाते में रखना होगा।

– प्रोजेक्ट लॉन्च होने से पहले ही ग्राहकों को अपार्टमेंट बेचने वाले बिल्डर्स पर लगाम लगेगी।

– हर बिल्डर को प्रोजेक्ट से जुड़ी हर जानकारी अथॉरिटी को देनी होगी।

– कारपेट एरिया, सुपर बिल्ट अप एरिया के नाम पर ग्राहकों को गुमराह करने वालों पर लगाम लगेगी।

– प्रोजेक्ट में देरी होने की स्थिति में बिल्डर्स को ग्राहकों को उतना ही ब्याज देना होगा जितना ग्राहक अपने बैंक को चुका रहा हो।

– अथॉरिटी के नियमों का उल्लंघन करने पर बिल्डर को जुर्माना या तीन साल की जेल भी हो सकती है।

– पजेशन के बाद प्रोजेक्ट में कोई दिक्कत आती है तो ग्राहक एक साल के अंदर अंदर बिल्डर से सेवाओं के लिए संपर्क कर सकता है।

– ग्राहकों की लिखित अनुमति के बिना कोई भी बिल्डर प्लान में कोई बदलाव नहीं कर सकता।