नई दिल्लीः पहाड़ी इलाकों लगातार गिरता पाला और बर्फबारी से मैदानी हिस्सों में सर्दी का प्रकोप बढ़ता जा रहा है, जिससे लोगों को ठिठुरन का सामना करना पड़ रहा है। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली वासियों को प्रदूषण के खतरनाक स्तर से राहत मिलती दिख रही है, जिससे लोग अब बाहर निकलते दिख रहा है।

दक्षिणी भारत के तामाम हिस्सों में रात बारिश होने से तापमान काफी नीचे खिसक गया। पश्चिमी और हरियाणा के कुछ हिस्सों में सुबह घना कोहरा छाया रहा है, जिससे यातायात बाधित हुआ। इस बीच भारतीय मौसम विभाग(आईएमडी) ने देश के कई राज्यों में गरज-चमक के साथ भारी बारिश की चेतावनी जारी कर दी है।

  • इन हिस्सों में होगी गरज के साथ भारी बारिश

आईएमडी के अनुसार, गिलगित-बाल्टिस्तान, मुजफ्फराबाद, लद्दाख, जम्मू-कश्मीर, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड के कई इलाकों में गरज के साथ भारी बारिश की चेतावनी जारी कर दी है। इसके बाद इन हिस्सों में तापमान काफी नीचे पहुंचने की उम्मीद है। कई इलाकों में तो अभी भी पारा गिरकर शून्य के भी नीचे माइनस में पहुंच चुका है।

पहाड़ों पर लगातार बर्फबारी का सितम जारी है, जिससे मैदानों हिस्सों में सर्दी बढ़ने की आशंका जताई है। पर्वतीय क्षेत्रों से आ रही सर्द हवाओं के कारण पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, मध्यप्रदेश, उत्तर प्रदेश, दिल्ली समेत कई राज्यों में सर्दी ने ठिठुरन बढ़ा दी, जिससे बचाव को लोगों ने गर्म कपड़ों के साथ-साथ अलाव जलाकर सेंकने शूरू कर दिये हैं।

  • इन राज्यों में होगी भारी बारिश

आईएमडी के मुताबिक, तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश, केरल, पुडुचेरी, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह समेत कई जगहों पर बारिश की संभावना जताई गई है। उत्तरी अंडमान सागर के ऊपर एक ताजा चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र उभरने की चेतावनी जारी कर दी है। इससे आसपास के इलाके के मौसम में परिवर्तन देखने को मिल सकता है।

वहीं, दक्षिण आंतरिक कर्नाटक, उत्तरी तमिलनाडु, तटीय आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, गोवा, लक्षद्वीप, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह के कई इलाकों में गरज के साथ तेज बारिश की उम्मीद है।


Latest News