This is the special policy of the post office, by paying Rs 2200 every month, get 29 lakhs in the end

नई दिल्ली। Post office best scheme. आज के समय में जीवन बीमा (Life Insurance) सबके लिए जरूरी बन गया है। कम प्रीमियम (Minimum Premium) में ज्यादा रिटर्न और कुछ अनहोनी हो जाए तो नॉमिनी को एकमुश्त पैसे की सुविधा जीवन बीमा को बेहद आकर्षक बना देते हैं। देश में सरकारी और प्राइवेट कंपनियां कई तरह की लाइफ इंश्योरेंस पॉलिसी चलाती हैं। इनमें एलआईसी से लेकर पोस्ट ऑफिस तक का नाम है। अगर कम प्रीमियम और ज्यादा रिटर्न के लिहाज से देखें तो पोस्टल लाइफ इंश्योरेंस को सबसे बेहतर मान सकते हैं क्योंकि इसके पैसे पर सरकार की तरफ से सुरक्षा मिलती है।

आज हम पोस्टल लाइफ इंश्योरेंस पॉलिसी (Postal Life Insurance Policy ) के बारे में बात कर रहे हैं। यह पॉलिसी कम प्रीमियम में ज्यादा रिटर्न देती है और सरकार इसकी मैच्योरीट पर सुरक्षा की गारंटी भी देती है। यह भारत सरकार की स्कीम है जिसे पोस्ट ऑफिस के जरिये चलाया जाता है। यह स्कीम देश में 1884 से चल रही है। पोस्टल लाइफ इंश्योरेंस के तहत पोस्ट ऑफिस 6 तरह की पॉलिसी चलाता है। इसमें पॉलिसी के नाम सुरक्षा, संतोष, सुविधा, सुमंगल, युगल सुरक्षा और बाल जीवन बीमा शामिल हैं। पहले सिर्फ सरकारी नौकरी वाले लोग ही इस पॉलिसी को खरीद सकते थे, लेकिन अब इसका दायरा प्राइवेट सेक्टर के कर्मचारियों और पेशेवरों के लिए बढ़ा दिया गया है।

पोस्ट ऑफिस की सुरक्षा पॉलिसी
होल लाइफ एस्योरेंस पॉलिसी 80 साल में मैच्योर होती है। यानी कि पॉलिसी होल्डर की उम्र जब 80 साल होगी तो यह पॉलिसी मैच्योर होगी। 55, 58 और 60 साल की उम्र तक इसका प्रीमियम चुकाया जा सकता है। इस पॉलिसी को 19 साल की उम्र से लेकर 55 साल की उम्र तक ले सकते हैं। इसमें मिनिमम सम एस्योर्ड 20,000 रुपये और अधिकतम 50 लाख रुपये है। पॉलिसी शुरू होने के 4 साल बाद लोन लेने की सुविधा मिलती है। 3 साल बाद चाहें तो इस पॉलिसी को सरेंडर कर सकते हैं। इस पॉलिसी में बोनस मिलता है जो कि प्रति 1000 रुपये पर 76 रुपये की दर से दिया जाता है।

मैच्योरिटी पर मिलेंगे 29 लाख
इसे एक उदाहरण से समझते हैं। मान लीजिए 30 साल के रमेश सुरक्षा पॉलिसी खरीदते हैं और उन्होंने सम एस्योर्ड के तौर पर 10 लाख की राशि का चयन किया है। उन्होंने 55 साल तक प्रीमियम चुकाने का विकल्प चुना है। अभी उम्र 30 साल है तो अगले 25 साल तक प्रीमियम चुकाना होगा। इसके लिए हर महीने उन्हें 2200 रुपये चुकाने होंगे। इस पॉलिसी की मैच्योरिटी 80 साल पर हो जाएगी। उस वक्त रमेश को मैच्योरिटी के रूप में 29 लाख रुपये मिलेंगे। यानी 10 लाख की पॉलिसी पर हाथ में 29 लाख रुपये आएंगे। यह राशि पूरी तरह से टैक्स फ्री होगी।

ये है संतोष पॉलिसी
इसके बाद बात करते हैं संतोष पॉलिसी की। 19 साल से लेकर 55 साल के व्यक्ति इस प्लान को खरीद सकते हैं. इसमें पॉलिसी के मैच्योर होने की अवधि 35, 40, 50, 58 और 60 साल है. यानी कि इन वर्षों में यह पॉलिसी मैच्योर हो सकती है। इसमें मिनिमम सम एस्योर्ड 20,000 और अधिकतम 50 लाख रुपये का है। 3 साल बाद पॉलिसी पर लोन ले सकते हैं। चाहें तो 3 साल बाद इस पॉलिसी को सरेंडर कर सकते हैं. इसमें प्रति 1000 रुपये पर 52 रुपये का बोनस मिलता है।

अंत में मिलेगा 20 लाख
मान लें कि किसी 30 साल के व्यक्ति ने 10 लाख रुपये सम एस्योर्ड की संतोष पॉलिसी खरीदी है। उन्होंने पॉलिसी की मैच्योरिटी एज 50 साल तय की है। इसके लिए 50 साल की उम्र तक अर्थात अगले 20 साल तक हर महीने 4000 रुपये का प्रीमिमय भरना होगा। 20 साल बाद यह पॉलिसी मैच्योर हो जाएगी और तब 20,40,000 रुपये की रकम मिलेगी। यह रकम पूरी तरह से टैक्स फ्री होगी। अगर पॉलिसी के दौरान होल्डर की मृत्यु हो जाती है तो जो भी डेथ बेनिफिट बनेगा, वह नॉमिनी को जोड़ कर दे दिया जाता है।

यहां भी जरूर पढ़े : Old Coins : अगर आपके पास नहीं है कोई जॉब,तो पुराने सिक्कों को बेचकर खड़ा करें करोड़ों का बिजनेस 

यहां भी जरूर पढ़े : Earn Money: 100 रुपये का ये नोट आपको रातों रात बना देगा लखपति

Recent Posts