Homeभारतभारतीय बड़े ही चाव से कहते हैं दाल-चावल, जानिए ये हमारी थाली...

भारतीय बड़े ही चाव से कहते हैं दाल-चावल, जानिए ये हमारी थाली में आई कहां से?

नई दिल्ली। पूरे भारत में अगर बात करें यहां के मुख्य भोजन की तो यहां पर लोगों का पेट तभी भरता है जब वह घर पर चावल दाल रोटी सब्जी खाते हैं। भारतीय घरों में मुख्य रूप से चावल, दाल और सब्जी बनाई जाती है। यह सबसे कम फट भोजन में से एक हैं, जो कि स्वाद के साथ-साथ सेहत के लिए बहुत अच्छा माना गया है। भारतीय भोजन की एक बात और भी खास यह है कि यहां के भोजन को अगर रोज रोज खाया जाए फिर भी उस से जी नहीं भरता, लेकिन वहीं अगर पिज़्ज़ा, ब्रेड और बर्गर को रोजाना खाने को दिया जाए तो लोग उसे खाने से उमन उब जाते हैं लेकिन चावल दाल रोटी सब्जी रोजाना मुख्य रूप से परोसी जाने वाली भोजन है।

जिससे किसी भी भारती का मन नहीं भरा है। दाल चावल और सब्जी में प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट और फैट की भरपूर मात्रा होती है। वेट लॉस करने वाले डिनर में दाल चावल और ढेर सारा सैलेड खाकर वेट लॉस किया जा सकता है। दाल चावल सभी को खूब पसंद होता है। आइए जानते हैं, दाल चावल से जुड़े कुछ खास और विशेष बातें-

कहां से आया है?

दाल, चावल, घर पर रहने वाले लोग भले ही चावल दाल को खाना पसंद लेकिन जो लोग बाहर रह रहे हैं उन्हें पता है कि दाल चावल की क्या अहमियत होती है। भारतीय घरों में बनने वाला यह भोजन दैनिक जरूरतों के हिसाब से परफेक्ट माना गया है।

वजन घटाने वाले लोगों को और वजन बढ़ाने वाले लोगों दोनों ही इसे खा सकते हैं दाल चावल का यह कॉन्बो भारत में तरह तरह से बनाया जाता है। जैसे भिंडी की सब्जी, चोखा, आलू भुजिया आदि कई लोग इसे भारतीय डिश मानते हैं लेकिन यह भारतीय भोजन है जो कि हर रोज सुबह शाम अलग-अलग सब्जियों के साथ बनाई जाती है।

दाल चावल बेस्ट और परफेक्ट क्यों है?

अगर आप वजन घटाने के बारे में सोच रहे हैं और इसके लिए परफेक्ट डिनर ऑप्शन ढूंढ रहे हैं तो आप दाल चावल खा सकते हैं. इसे खाने की वजह यह है कि ज्यादातर लोग डाइटिंग करते वक्त कार्बोहाइड्रेट छोड़ देते हैं जिसके कारण उनकी एनर्जी लो हो जाती है और कॉन्स्टिपेशन भी हो जाता है। चावला दाल से आपको कार्बोहाइड्रेट मिलता है जब आप दाल चावल एक साथ खाते हैं, तो साथ में सैलेड भी खाएं दाल में मौजूद प्रोटीन, विटामिन, आयरन कैल्शियम और फाइबर हमारी सेहत के लिए बहुत अच्छे होते हैं, अगर आप वेट लॉस नहीं कर रहे हैं तो इसमें घी का तड़का देकर या फिर ऊपर से घी डालकर खा सकते हैं।

RELATED ARTICLES

Most Popular