नई दिल्ली। फुटवियर की बात करें तो ज्यादा वैरायटी देखने को नहीं मिलती है सूस, स्लीपर, सैंडल या जूता होता है। ऐसे में लोग ज्यादातर स्लीपर या फ्लिप फ्लॉप पहनना कंफर्टेबल फील करते हैं, लेकिन ड्रेस के अकॉर्डिंग ही आज के समय में फुटवेयर पहना जाता है, जैसे पार्टी वियर में महिलाएं हील्स पहनती हैं। स्पोर्ट्स मॉर्निंग वॉक व्यायाम के लिए, स्पोर्ट शू पहनते हैं, ऑफिस के लिए फॉर्मल शू या बैली पहनी जाती है।

ऐसे में लगभग लगभग दुनिया में सभी के पास जूते होते हैं और जूतों से बदबू आना सबसे कॉमन समस्या है भले ही आपका पैर कितना भी साफ क्यों ना हो, लेकिन आपके जूतों से बदबू जरूर आती है। बदबूदार जूतों का कारण है बैक्टीरिया, पैरों में बड़ी संख्या में बैक्टीरिया बनने लगते हैं। यह बैक्टीरिया हानिकारक नहीं होते हैं लेकिन यह बदबू का माहौल बना देते हैंय़ बार-बार जूतों की सफाई करने के बावजूद भी गंदी बदबू आती है तो आप कुछ घरेलू तरीके से इन समस्याओं से राहत पा सकते हैं ।

जूतों के बदबू से कैसे पाएं छुटकारा

बेकिंग सोडा बेकिंग सोडा एक नेचुरल डिओडराइजर है जो बदबू एवं बैक्टीरिया को एब्जॉर्ब करने का काम करता है। जूतों से बदबू दूर करने के लिए बेकिंग सोडा का इस्तेमाल अलग-अलग तरीके से किया जाता है, लेकिन आप बेकिंग सोडा को जूतों में छिड़ककर 24 घंटे के लिए छोड़ दें, इससे बदबू साफ हो जाएगी।

साबुन – जूतों एवं स्नीकर की बदबू को दूर करने के लिए आप साबुन की एक पट्टी जूतों में डालकर रात भर के लिए छोड़ दें, साबुन बैक्टीरिया और उन से पैदा होने वाले बदबू को खत्म करता है। इसके अलावा साबुन में तेज झार होता है इसलिए यह बदबू को तेजी से सोख लेता है, ध्यान रखें कि साबुन गीली बिल्कुल ना हो नहीं तो नमी के कारण बैक्टीरिया और ज्यादा बढ़ेंगे।

धूप – जूतों को धूप में सुखाएं, थोड़ी बहुत नमी रहने पर बदबू बढ़ती है।

मोंजे पहने – जूतों को बदबू से बचाने के लिए मोंजे पहनना चाहिए, मोंजे पहनने से पैर में जब पसीना आता है तो वह नमी को सोख लेता है।

इंसोल चेक करें – अगर आप सालों से ही एक इंसोल से काम चला रहे हैं तो उसे बदल लीजिए इंसोल के चलते बदबू बढ़ जाती है।


Latest News