नई दिल्ली। भुने हुए चने किसको पसंद नहीं है भुने हुए चने के छिलके उतारकर उसे पीसकर सत्तू बनाया जाता है, ऐसे में सर्दी के दिनों में भुने हुए चने हमारे सेहत के लिए बहुत अच्छे माने गए हैं। भुने हुए चने और गुड़ खाने से सेहत को ढेर सारे लाभ मिलते हैं क्योंकि इन में मौजूद प्रोटीन फोलेट आयरन कैल्शियम पोटेशियम और फाइबर हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत अच्छा माने गए हैं, भुने हुए चने को सर्दियों के दिन में खाने से हड्डियां मजबूत होती है और पाचन तंत्र हेल्दी रहता है।

भुने हुए चने का स्वाद काफी अच्छा लगता है लोग इसे पीसकर कई तरह के डिश बनाए जाते हैं। भुने हुए चने का तासीर गर्म होता है, इसलिए सर्दी के दिनों में इसे खाने से शरीर की तासीर शरीर को गर्माहट मिलती है। भुने हुए चने के सेवन से शरीर को मौसमी बीमारी का खतरा नहीं रहता है। साथ ही इससे ब्लड प्रेशर डायबिटीज कंट्रोल में रहता है।

भुने हुए चने के फायदे

इम्यूनिटी बूस्ट

सर्दी के दिनों में भुने हुए चने खाने से इम्यूनिटी बूस्ट होती है साथ ही हड्डियों को कैल्शियम मिलता है, जिससे हड्डियों का दर्द ठीक होता है। भुने हुए चने खाने से बीमारियों का खतरा कम रहता है और शरीर को गर्माहट मिलती है।

एनर्जी

सर्दी के दिनों में अगर आप भुने हुए चने खाते हैं तो आपको इंस्टेंट एनर्जी मिलेगी और चने में मौजूद कार्बोहाइड्रेट और फाइबर आपके सेहत के लिए अच्छे माने गए हैं।

यह शरीर के थकावट को दूर करने का काम करते हैं। पाचन तंत्र के लिए फायदेमंद सर्दी के दिनों में पाचन तंत्र को हेल्दी रखने के लिए आप भुने हुए चने खा सकते हैं। इसमें भरपूर मात्रा में फाइबर पाया जाता है जो कि पाचन तंत्र को स्वस्थ रखता है और इसे खाने से कब्ज, गैस और अपनी समस्या से निजात मिलती है।

पेट को स्वस्थ रखने का काम भी करता है, वेट लॉस कम करता है, सर्दी के दिनों में भुने हुए चने के सेवन से वजन कंट्रोल रहता है इसे खाने से पेट भरा हुआ महसूस रहता है, जिसके कारण आप एक्स्ट्रा मील नहीं लेते हैं।

भरपूर मात्रा में कैलोरी होती है जो कि शरीर के वजन को नहीं बढ़ने देती है। डायबिटीज कंट्रोल सर्दी के दिनों में डायबिटीज बढ़ जाती है, जिससे कंट्रोल करने के लिए आप रोजाना भुने हुए चने का सेवन कर सकते हैं। भुने हुए चने में इंसुलिन की भरपूर मात्रा होती है जो कि भूल की मात्रा को कंट्रोल करने का काम करता है और इसके सेवन से शरीर स्वस्थ रहता है।


Latest News