नई पेंशन योजना का आगाज, मिलेगा 8 प्रतिशत ब्याज, एक साल में 60 हजार रुपए

बुजुर्गों के जीवन को सुखद बनाने के लिए मोदी सरकार एक और प्रयास करने जा रही है। केंद्रीय वित्त, रक्षा और कॉरपोरेट मामलों के मंत्री अरुण जेटली दिल्ली में प्रधानमंत्री वय वंदना योजना (पीएमवीवीवाई) की आज औपचारिक घोषणा करेंगे। इस स्कीम में 60 वर्ष से अधिक आयु के वरिष्ठ नागरिकों को लाभ मिलेगा। यह योजना 4 मई 2017 से 3 मई 2018 तक के लिए उपलब्ध रहेगी। योजना की खास बात यह है कि इसमें 8 प्रतिशत की दर से ब्याज मिलेगा।

इस योजना को भारतीय जीवन बीमा निगम यानी कि एलआईसी के माध्यम से ऑफलाइन या ऑनलाइन खरीद सकते हैं। एलआईसी को इस योजना का संचालन करने का विशेषाधिकार दिया गया है। यहां जानें इस योजना से जुड़ी 10 अहम बातें।

स्कीम से जुड़ी अहम बातें

– योजना की औपचारिक घोषणा 21 जुलाई को हो रही है, लेकिन यह 4 मई 2017 से 3 मई 2018 तक उपलब्ध रहेगी।
– योजना 10 साल के लिए 8 प्रतिशत का निश्चित रिटर्न देगी।
– 10 साल की पॉलिसी अवधि के अंत तक पेंशनधारक अगर जीवत रहता है तो उसे योजना के क्रय मूल्य के साथ पेंशन की अंतिम किस्ता का भुगतान किया जाएगा।
– तीन पॉलिसी वर्ष के अंत में क्रय मूल्य के 75 प्रतिशत तक कर्ज लेने की अनुमति दी जाएगी। कर्ज के ब्याज का भुगतान पेंशन की किस्तों से किया जाएगा।
– पेंशन 10 साल की अवधि के दौरान पेंशनभोगियों की खरीद के समय चुने गए विकल्प के अनुसार मासिक, तिमाही, छमाही या वार्षिक मिल सकता है।
– इस योजना पर सेवा कर व जीएसटी नहीं लगेगा।
– योजना को एलआईसी के माध्यम से ऑनलाइन या ऑफलाइन ले सकते हैं।
– योजना में स्वयं या पति या पत्नी की किसी भी गंभीर/टर्मिनल बीमारी के इलाज के लिए समयपूर्ण निकासी की अनुमति भी है।
– इस योजना को चलाने की जिम्मेदारी एलआईसी को दी गई है।
– ब्याज की गारंटी और वास्तविक ब्याज के बीच अंतर व प्रशासनिक खर्च से संबद्ध लागत का भुगतान सरकार सब्सिडी के रूप में एलआईसी को करेगी।

You might also like