Times Bull
News in Hindi

इस गेंदबाज ने आखिरी ओवर में छीन ली थी धोनी से बॉल

टीम इंडिया टी20 विश्व कप एक बार फिर जीतने का सपना लेकर टूर्नामेंट में शामिल हुई है, लेकिन क्या आपको वो खिलाड़ी याद है जिसकी बदौलत टीम इंडिया ने वर्ष 2007 में टी20 विश्व कप का खिताब जीता था। पाकिस्तान के खिलाफ खेले गए इस मैच में जोगिंदर शर्मा का डाला गया वह आखिरी ओवर शायद ही कोई भूल पाए।

बेशक जोगिंदर इस समय टीम इंडिया का हिस्सा नहीं हैं, लेकिन उनके इस ओवर की चर्चा आज भी मीडिया में छाई हुई है। जोगिंदर ने इस मैच के अपने एक्सपीरिएंस को हाल ही मीडिया से शेयर किया।

छीन ली थी धोनी के हाथ से गेंद

2007 के टी20 विश्व कप का फाइनल मुकाबला भारत और पाकिस्तान के बीच दक्षिण अफ्रीका के वॉन्डरर्स ग्राउंड में खेला गया था। अंतिम ओवर में पाकिस्तान के तीन विकेट बाकी थे और उन्हें मैच जीतने के लिए 6 गेंदों में 13 रन बनाने थे। शर्मा ने बताया, ‘मैं चाह रहा था कि धोनी अंतिम ओवर मुझे डालने दें। जैसे ही उन्होंने मेरी तरफ देखा, मैं दौड़कर उनके पास गया और इतना एक्साइटेड था कि उनके हाथ से बॉल छीन ली। मेरे लिए ये बड़ी बात थी कि हरभजन की जगह मुझे तरजीह दी गई।’ आपको बता दें कि इससे पहले टी20 विश्व कप के सेमीफाइनल में भी ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ जोगिंदर ने ही अंतिम ओवर डाला था और यह शानदार रहा था।

अंतिम ओवर में किया था कमाल

अंतिम ओवर की पहली दो गेंदों पर मिस्बाह ने 7 रन बना लिए थे। शर्मा ने बताया कि पहली गेंद वाइड गई, लेकिन धोनी ने मुझसे टेंशन नहीं लेने के लिए कहा। दूसरी बॉल पर मिस्बाह ने छेक्का मार दिया। अब 4 बॉल पर पाक को 6 रन बनाने थे। हमने लास्ट ओवर के लिए प्लान किया था कि बल्लेबाज को कोई नया शॉट नहीं खेलने देंगे। इसके लिए बॉल को ऑफसाइड के बाहर डालने का निर्णय लिया।

रुक कर गेंद डालने का हुआ फायदा

शर्मा ने बताया कि मैं बॉलिंग करते समय थोड़ा सा रुकता हूं, इसी का मुझे फायदा मिला। मैं समझ गया कि इस बॉल पर मिस्बाह स्कूप शॉट खेलेगा। वह पहले के मैच में भी ये शॉट खेल चुका था। जैसे ही मैंने उसे स्टंप के बाहर आते देखा, बॉल की लैंथ कम कर दी। यकीन था कि श्रीसंत कैच ले लेगा और ऐसा ही हुआ। खुशी है कि विश्व कप का अंतिम ओवर मैंने डाला।

एक्सीडेंट ने खत्म किया करियर

वर्ष 2011 में एक कार हादसे में जोगिंदर शर्मा के सिर में चोट लगी थी। इसके चलते वे काफी समय तक आईसीयू में भी रहे। उस दौरान डॉक्टरों ने भी उम्मीद छोड़ दी थी, लेकिन इस खिलाड़ी ने मौत को मात दे दी। जोगिंदर कप्तान महेंद्र सिंह धोनी पर बनी बायोपिक में भी एक छोटी सी भूमिका निभाते नजर आएंगे। वर्ष 2001 में अपने क्रिकेट करियर की शुरुआत करने वाले जोगिंदर शर्मा अब हरियाणा पुलिस में बतौर डीएसपी कार्यरत हैं।

Loading...