नोटबंदी के समय किया था 2 लाख का नकद भुगतान तो दिखाना होगा ITR में

यह खबर आपको झटका दे सकती है। अगर आपने नोटबंदी के 50 दिनों की अवधि के दौरान किसी तरह के लोन या क्रेडिट कार्ड के बिल के पेमेंट के लिए दो लाख रुपए का कैश पेमेंट किया है तो अब आपको इसका खुलासा इनकम टैक्स रिटर्न में करना होगा। सरकार ने इस साल आयकर रिटर्न भरने के नियमों में कुछ बदलाव किए हैं, इसमें एक पेज का ना आयकर रिटर्न फॉर्म भी शामिल है।

यह फॉर्म वित्त वर्ष 2017—18 के लिए जारी किया गया है। नए फॉर्म में आय, छूट और अदा किए गए कर की जानकारी के अलावा एक नया खंड जोड़ा गया है।

इसमें नोटबंदी के दौरान 2 लाख रुपए या इससे ज्यादा के किसी तरह की बैंक जमा करने की भी जानकारी देनी होगी। इसमें 2 लाख रुपए या इससे अधिक के नकद भुगतान की भी जानकारी देनी होगी।

एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि यह कॉलम नोटबंदी के दौरान कैश डिपॉजिट को वार्षिक आय से मैच करने के मकसद से लाया गया है। यानी कि कालाधन को नोटबंदी के दौरान सफेद करने वालों पर भी अब शिकंजा कसने वाला है।

Hindi News अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Latest Hindi News App

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.