दिल्ली हिंसा: अब तक 34 की मौत, पुलिस ने अफवाह पर ध्यान न देंने की अपील

Delhi violence 34 killed so far, police appeal to ignore the rumor

उत्तर पूर्व दिल्ली नागरिकता संशोधन कानून (NRC) के विरोध में थम सी गई है, वही मौत का आंकड़ा भी लगातार बढ़ता ही जा रहा है। आज की सुबह गुरु तेग बहादुर अस्पताल (GBT) की ओर से नया आंकड़ा जारी किया गया है। अस्पताल की रिपोर्ट के मुताबिक अबतक दिल्ली हिंसा में 34 लोगों की मौत हुई है। इनमें 30 मौत गुरु तेग बहादुर अस्पताल और 2 LNJP अस्पताल में हुईं। वही रिपोर्ट में घायलों की संख्या 150 से अधिक बताई गई है। वही दूसरी ओर हाई कोर्ट की कड़ी फटकार के बाद केंद्र और राज्य सरकार ने कई कदम उठाए है।

पेट्रोल और डीजल के घटे रेट, जानें आज के नए दाम

राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (NSA) अजीत डोभाल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के निर्देश पर दिल्ली की सड़कों पर उतर लोगों से बात की और उन्हें भरोसा दिलाया। सोमवार को सीएए को लेकर हुई झड़प के दौरान मारे गए दिल्ली पुलिस के हेड कांस्टेबल रतन लाल को भाजपा के नेतृत्व वाले केंद्र ने शहीद का दर्जा दिया है। वही बुधवार को राज्य विधानसभा के दौरान, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने घोषणा की कि उनके परिवार के सदस्यों को मुआवजे के रूप में एक करोड़ मिलेंगे।

ट्राई के खिलाफ एक हुईं जियो, एयरटेल और वोडाफोन

शुरुआती रिपोर्टों में दावा किया गया है कि रतनलाल की क्षेत्र में दो समूहों के बीच हुई हिंसक झड़पों में पथराव के दौरान सिर में चोट लगने से मौत हो गई। दिल्ली पुलिस ने कहा हम सीसीटीवी फुटेज के आधार पर शरारती तत्वों की पहचान कर रहे हें। हिंसा प्रभावित क्षेत्रों में अतिरक्त पैरामिलिट्री के साथ सीनियर पुलिस ऑफिसर द्वारा पैदल मार्च किया गया है। पुलिस ने हेल्पलाइन नंबर 112 पर उपद्रव करने की सूचना देने को कहा है वही पुलिस ने लोगों से अपील की है कि अफवाह पर ध्यान न दें।