Times Bull
News in Hindi

होटल, रेस्टोरेंट में सर्विस चार्ज देना नहीं है जरूरी : पासवान

क्या आपने कभी होटल या रेस्टोरेंट का बिल गौर से देखा है। ऐसा बहुत जगह होता है जहां होटल या रेस्टोरेंट वाले बिल में सर्विस टैक्स के अलावा सर्विस चार्ज भी जोड़ते हैं। ग्राहका को सर्विस टैक्स भरना अनिवार्य होता है, लेकिन सर्विस चार्ज उनसे बेवजह ही वसूला जाता है। केंद्र सरकार ने शुक्रवार को यह साफ कर दिया है कि होटल्स और रेस्टोरेंट्स यह तय नहीं कर सकते कि ग्राहकों से कितना सर्विस चार्ज वसूला जाए। यह ग्राहकों पर निर्भर करता है कि वे सर्विस चार्ज देना चाहते हैं या नहीं।

केंद्रीय खाद्य और उपभोक्ता मामलों के मंत्री ने कहा कि इस संबंध में सभी राज्यों को गाइडलाइंस भेजी जा रही हैं। सरकार की ओर से यह कदम होटलों और रेस्टोरेंट्स के 5 से 20 प्रतिशत तक सर्विस चार्ज वसूलने की शिकायतों पर उठाया गया है। शिकायतों में कहा गया था कि ग्राहकों को यह चार्ज चुकाने के लिए बाध्य किया जाता है, भले ही उन्हें दी गई सर्विस से वे खुश हों या ना हों।

आपको बता दें कि उपभोक्ता मामलों के विभाग ने इस साल की शुरुआत में कहा था कि सर्विस चार्ज बिल का हिस्सा होता है, लेकिन यह ग्राहक पर निर्भर करता है कि वह सर्विस चार्ज देना चाहता है या नहीं। विभाग के इस बयान की वजह से उपभोक्ताओं और होटल इंडस्ट्री में भ्रम की स्थिति बनी रही, लेकिन अब इसे लेकर स्थिति साफ कर दी गई है।

रोचक और मजेदार खबरों के लिए अभी डाउनलोड करें Hindi News APP

Related posts

रोचक और मजेदार खबरों के लिए अभी डाउनलोड करें Hindi News APP

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Loading...