Times Bull
News in Hindi

योग क्रियाओं से बनती है मांसपेशियां मजबूत

फिट रहने के लिए जरूरी नहीं किसी बगीचे या जिम में जाकर ही वर्कआउट किया जाए। आप एक ही जगह पर बैठकर योगाभ्यास कर सकते हैं। दिनचर्या में केवल तीन मिनट का योगासन भी शरीर के कई अंगों पर सकारात्मक असर डालता है। जानते हैं इनके बारे में-

चमकता रहेगा चेहरा

आनुवांशिक रूप से या किसी चोट लगने के कारण नाक की हड्डी के असामान्य होने या साइनस और चेहरे की झुर्रियोंं को दूर करने में कुछ योगक्रियाएं मददगार हो सकती हैं। ये चेहरे की चमक भी बढ़ाती हैं।

विधि

द्दोनों हथेलियां गालों पर रखें। थोड़े दबाव के साथ ५ बार सामने की ओर और ५ बार पीछे की ओर सहलाएं। इसी प्रकार अंगुलियों से बंद आंखों की मसाज करें।

हाथ की बीच की दो अंगुलियों से नाक के ऊपरी हिस्से से दबाव बनाते हुए नाक के नथुने तक लाएं। ऐसा विपरीत दिशा में भी करें।

गर्दन की अकडऩ होगी दूर

गर्दन में अकडऩ व माथे की नस में खिंचाव से होने वाले दर्द से पीडि़त व्यक्ति कुछ आसान हथेलियों की क्रियाएं कर सकते हैं। इससे सिर व गर्दन की मांसपेशियां सक्रिय होंगी। साथ ही हृदय गति भी नियंत्रित रहेगी।

विधि

दोनों हाथों की अंगुलियों को माथे पर रखकर दबाव बनाएं। ध्यान रखें कि सिर पीछे न जाने पाए। सिर की मसाज करते हुए अंगुलियों को कान की तरफ तक लाएं।

अंगुलियों को माथे पर रखकर दबाव बनाएं। सिर से पीछे गर्दन की ओर ले जाते हुए माथे तक अंगुलियों को लाएं। दाईं हथेली को जबड़े के नीचे गर्दन पर रखें व हल्के दबाव के साथ मालिश करें।

हाथ-पैरों की मजबूती

कंधे, हाथ व पैरों की मांसपेशियों की मजबूती के लिए और कार्पल टनल सिंड्रोम की समस्या में हाथों से जुड़ी क्रियाएं लाभदायक हो सकती हैं।

विधि

हथेलियों को एक-दूसरे से जकडक़र पकड़ें। अंगुलियों पर दबाव बनाते हुए दाएं-बाएं रगड़ें।

दाईं या बाईं जांघ पर दोनों हथेलियों से दबाव बनाते हुए हाथों को पैरों के पंजे तक लाएं। इसके लिए जांघ व घुटने को ऊपर की ओर मोड़ें व कमर सीधी रखें।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.