Times Bull
News in Hindi

रोबोट को बताएं बीमारी, वो बताएगा किस डॉक्‍टर से मिलना होगा

अकसर ऐसा होता है कि आप किसी बीमारी से परेशान हैं और आपको पता नहीं होता कि वास्‍तव में इसके लिए किस क्षेत्र के विशेषज्ञ डॉक्‍टर से दिखाने की जरूरत है। आप किसी एक डॉक्‍टर के पास जाते हैं, मरीजों की लंबी कतार के बाद आपका नंबर आता है और वह डॉक्‍टर आपके लक्षण देखने के बाद कहता है कि आपको किसी दूसरे विशेषज्ञ से दिखाने की जरूरत है। ऐसे में आपका समय, पैसा दोनों बर्बाद होते हैं और आपको अतिरिक्‍त परेशानी भी उठानी पड़ती है।रोबोट बनेगा मददगार अगर ऐसे में आपको घर बैठे कोई आपकी बीमारी के लक्षणों के आधार पर यह बता दे कि आपको किस विशेषज्ञ से मिलने की जरूरत है तो आपकी सारी परेशानी दूर हो सकती है। यह सुविधा दिल्‍ली के एक हेल्‍थकेयर स्‍टार्टअप ने अपने एप में मुहैया कराने की कोशिश की है।

हेल्‍थकेयर स्‍टार्टअप विजिट के इस एप में आर्टिफ‍िश‍ियल इंटेलिजेंस (एआई) पर आधारित इंटरनेट रोबोट (बॉट) से बातचीत की सुविधा जोड़ी गई है।कैसे काम करेगा यानी आप अपनी समस्‍या इस बॉट को बताएंगे और वो सिस्‍टम में पहले से मौजूद लक्षणों को कैलकुलेट करके आपको यह सुझाव देगा कि आपको किसी क्षेत्र के विशेषज्ञ डॉक्‍टर से मिलने की जरूरत है। यही नहीं ये बॉट आपको डॉक्‍टरों के एक पैनल की जानकारी भी दे देगा जिससे आप सलाह ले सकते हैं। यानी आपकी परेशानी घर बैठे हल हो जाएगी।क्‍या कहते हैं एप संचालक ‘विजिट’ के संस्थापकों का कहना है कि उनके द्वारा विकसित ‘एआई आधारित असिसटेंट’ से डॉक्टरों का भार भी हल्का होगा। ‘विजिट’ एक मांग आधारित ऑनलाइन सेवा प्रदाता प्लेटफार्म है जो उपयोक्ताओं को चिकित्सकों का एक बड़ा पैनल उपलब्ध कराता है, जिससे लोग इलाज के संबंध में परामर्श लेते हैं। वर्ष 2016 में स्थापित कंपनी के एक निदेशक वैभव सिंह ने कहा, ‘हमारे देश में पहले से चिकित्सकों की कमी है। कई बार लोग सामान्य फिजिशियन के क्लीनिक में जाते हैं, जहां लंबी कतार होती है और आखिरकार डॉक्टर उन्हें विशेषज्ञ से संपर्क करने को कहता है।’
उन्होंने कहा, ‘एआई बॉट (चैट बॉट) मरीजों द्वारा दी गई जानकारी के आधार पर शुरुआती स्क्रीनिंग करता है। इसके बाद यह उपयोक्ताओं को सामान्य फिजिशियन या विशेषज्ञ से संपर्क करने को कहता है।’

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.