Times Bull
News in Hindi

शर्मनाक: अस्पताल ने गर्भवती को भर्ती नहीं किया, सड़क पर बच्ची का जन्‍म

अस्पताल ने महिला को भर्ती करने से इनकार किए जाने के आरोपों को खारिज किया है
मुजफ्फरनगर जिले के बुढ़ाना के एक सरकारी अस्पताल ने 26 वर्ष की एक गर्भवती महिला को बिना कारण बताये भर्ती करने से इनकार कर दिया, जिसके बाद उसने सड़क पर बच्ची को जन्म दिया। फरजाना के पति यूसुफ ने आज आरोप लगाया कि वह प्रसव पीड़ा होने पर अपनी पत्नी को 22 जून को एक सरकारी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर ले गया लेकिन अस्पताल ने उसे भर्ती करने से इनकार कर दिया। यूसुफ ने कहा, ‘दूसरे अस्पताल में ले जाते समय उसने सड़क पर ही बच्चे को जन्म दिया।’ इसी बीच अस्पताल ने महिला को भर्ती करने से इनकार किए जाने के आरोपों को खारिज किया है। इस केंद्र के चिकित्सकों ने कहा कि महिला की स्थिति गंभीर होने के कारण उसे जिला अस्पताल रेफर किया गया था। पुलिस ने बताया कि किसी ने 100 नंबर पर कॉल कर सूचित किया। पुलिस फिर से महिला को उसी सरकारी स्वास्थ्य केंद्र पर लेकर गई, जिसने उसे फिर से जिला अस्पताल रेफर कर दिया। इससे आक्रोशित परिवार के सदस्यों ने अस्पताल की कथित लापरवाही के खिलाफ प्रदर्शन किया। मुजफ्फरनगर के मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर पीएस मिश्रा ने बताया कि उन्होंने घटना की जांच का आदेश दिया है और दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।
डॉक्टर पर मरीज का गुर्दा निकालने का मामला दर्ज

एक अन्‍य खबर के अनुसार मुजफ्फरनगर में ही गुर्दा से पथरी निकालने की सर्जरी के दौरान कथित तौर पर गुर्दा ही निकाल देने को लेकर एक डॉक्टर के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। पीड़ित के परिवार द्वारा दायर एक शिकायत के मुताबिक पुलिस ने आज बताया कि एक निजी अस्पताल में काम करने वाले विभु गर्ग ने कल इकबाल (60) का ऑपरेशन किया। सर्किल अधिकारी योगेन्द्र सिंह ने बताया कि मरीज के परिजनों का आरोप है कि आरोपी डॉक्टर ने ऑपरेशन के दौरान बुजुर्ग की किडनी निकाल दी। डॉक्‍टर के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है और मामले की जांच की जा रही है।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.