Times Bull
News in Hindi

डेंगू की आहट देख केंद्र-राज्‍य में चिट्ठीबाजी‍

मानसून का सीजन किसानों के चेहरों पर खुशी लाने के लिए जाना जाता है मगर देश के कई शहरों में मानसून सरकारों में बैठे लोगों के चेहरे पर पसीना लाने का काम भी करता है। बाढ़ या सूखा तो इसकी एक वजह है ही मगर बारिश के बाद पनपने वाले मच्‍छरों ने पिछले कुछ वर्षों से कई राज्‍यों की सरकारों की जान सांसत में डाल रखी है। ये मच्‍छर डेंगू, चिकनगुनिया और मलेरिया जैसी बीमारियां फैलाते हैं और खासकर तो देश की राजधानी दिल्‍ली में पिछले कुछ साल डेंगू और चिकनगुनिया का प्रसार हद से ज्‍यादा रहा है। इस वर्ष भी दिल्‍ली में जमकर बारिश हो रही है और जाहिर है कि इसके साथ ही मच्‍छरों का प्रकोप भी बढ़ने वाला है। ऐसे में देश के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री जगत प्रकाश नड्डा ने अभी से अपनी तैयारी शुरू कर दी है। उन्‍होंने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को पत्र लिखा है जिसमें डेंगू और मच्छर जनित अन्य बीमारियों के प्रसार की जांच के लिए निवारक और नियंत्रण उपायों को लागू करने के लिए कार्रवाई शुरू करने की आवश्यकता पर बल दिया गया है।

नड्डा ने मच्छर को नियंत्रित करने की गतिविधियों को मजबूती प्रदान करने के लिए प्रशिक्षित कर्मचारियों की नियुक्ति करने और नगर निगमों में सामान उपलब्ध कराने को कहा। उन्होंने दिल्ली सरकार से यह सुनिश्चित करने को भी कहा है कि पहचान की गई सभी प्रयोगशालाएं डेंगू, चिकनगुनिया और मलेरिया की जांच के लिए नैदानिक सुविधाओं से लैस हों। नड्डा ने केजरीवाल से अस्पतालों में पर्याप्त संख्या में बिस्तरों, दवाओं और अन्य संबंधित सामग्रियां तथा यह सुनिश्चित करने को कहा कि स्वास्थ्य केन्द्र में किसी को भी उपचार से इंकार नहीं किया जाए। उन्‍होंने यह भी लिखा है कि दिल्ली सरकार चिकित्सकों के प्रशिक्षण के लिए मंत्रालय के मास्टर प्रशिक्षकों की सेवाओं का भी इस्तेमाल कर सकती है। नड्डा की चिट्ठी तो केजरीवाल को जा चुकी है मगर दिल्‍ली में होने वाली हर समस्‍या के लिए केंद्र सरकार को जिम्‍मेदार ठहराने वाले मुख्‍यमंत्री अरव‍िंद केजरीवाल अब इस चिट्ठी को किस रूप में लेते हैं ये देखने वाली बात होगी। वैसे लोगों को याद होगा कि पिछले साल अरविंद केजरीवाल ने दिल्‍ली के लोगों को डेंगू-चिकनगुनिया के नाम से धमकाया था। दिल्ली में उपचुनाव के दौरान उन्‍होंने कहा था कि यदि लोगों ने भाजपा को वोट दिया और उनके बच्‍चों को डेंगू और चिकनगुनिया होता है तो इसके लिए वो खुद जिम्‍मेदार होंगे। हालांकि उनके इस बयान की कड़ी आलोचना हुई थी। इससे पिछले साल जब पूरी दिल्‍ली च‍िकनगुनिया की चपेट में थी तब केजरीवाल पंजाब चुनाव के लिए लगातार दिल्ली से बाहर रहे। तब भी उनकी बहुत आलोचना हुई थी कि दिल्‍ली के लोगों को भगवान भरोसे छोड़ वो पंजाब घूम रहे हैं।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.