Times Bull
News in Hindi

अब पालक-मैथी, आंवला-लहसुन के बनेंगे कैप्सूल, होगा ये फायदा

अब बाजार में पालक-मैथी, आंवला-लहसुन आदि के कैप्सूल बिकते नजर आएंगे। हाल ही में कोटा कृषि विश्वविद्यालय की खाद्य प्रसंस्करण इकाई ने यह कैप्सूल तैयार किए है। मण्डोर स्थित कृषि विश्वविद्यालय में चल रहे चार दिवसीय पश्चिमी क्षेत्र किसान मेले में ये कैप्सूल प्रदर्शित किए गए हैं। किसान मेले में कृषि विवि कोटा से आए जनसंपर्क अधिकारी व वैज्ञानिक डॉ. मुकेश गोयल व गृह वैज्ञानिक गूंजन सनाढ्य ने बताया कि राष्ट्रीय कृषि विकास योजना के तहत इकाई निदेशक डॉ. ममता तिवारी ने कैप्सूल्स तैयार किए हैं। इनमें पालक, मैथी, गाजर, अश्वगंधा, सफेद मूसली, नीम, गिलोह, सौंठ, सहेजना (फूल-पत्ती दोनों के कैप्सूल), लहसुन, आंवला, क्विनोवा के कैप्सूल हैं।

खाने में आसान

कई लोग कई सब्जियां दुर्गन्ध या स्वाद की वजह से नहीं खाते हैं। कई रोगियों को उपचार में कच्चा लहसुन खाना पड़ता हैं। कच्चा लहसुन खाने से मुंह में छाले हो जाते हैं। किसी रोगी को दिन में तीन बार लहसुन खाना है, तो वह हमेशा लहसुन की कलियां साथ नहीं रख सकता।

नीम व मैथी में भी लोगों को दिक्कत होती है, लेकिन कैप्सूल लेना आसान है।

सस्ती दवा व हाई न्यूट्रिशियन का मकसद

महंगी दवाइयों के खर्च से लोगों को बचाने के लिए व हाई न्यूट्रिशियन उपलब्ध कराने के लिए कोटा कृषि विवि में लेब रिसर्च सेंटर के साथ ही पूरी फ ूड प्रोसेसिंग इकाई लगाई है। वहां ये कैप्सूल तैयार किए जा रहे हैं। कैप्सूल तैयार करने के लिए कच्चे माल को काटकर पिसाई कर पाउडर बनया जाता है। बाद में इलेक्ट्रिक ड्रायर में अलग-अलग तापमान में सुखाकर कैप्सूल के खोल में पैकेजिंग की जाती है।

इनकी कीमत भी 2 से 3 रुपए तक ही है, जो वर्तमान में प्रचलित अन्य सभी दवाओं से बहुत सस्ती है।

कई कंपनियां आईं

सनाढ्य ने बताया कि कैप्सूल्स की सफलता को देख कई मल्टी नेशनल फॉर्मा कंपनियों से संपर्क किया है। इसके अलावा, कई सब्जी उत्पादक किसानों को प्रशिक्षण दिया जा रहा है।

बीमारियों में फायदेमंद

ये कैप्सूल शरीर में कम हो रहे माइनर फूड न्यूट्रिएंट, रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने व कई बीमारियों में फायदेमंद साबित होंगे। हृदयरोग, उच्च रक्तचाप, कब्ज, मधुमेह जैसी बीमारियों के मरीजों के लिए विशेष फायदेमंद है। मिनरल्स, प्रोटीन, विटामिन व अन्य जरूरी पौषक तत्वों से भरपूर रोग प्रतिरोधक क्षमता, नेत्र ज्योति, हीमोग्लोबिन आदि बढ़ाने में सहायक है।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.