नई दिल्ली – आज के समय में हर उम्र के लोगों को कोलेस्ट्रोल और हाई ब्लड प्रेशर का सामना करना पड़ रहा है। शरीर में कोलेस्ट्रॉल लेवल बढ़ना काफी सामान्य हो गया है और शरीर में कोलेस्ट्रॉल बढ़ने का एकमात्र कारण यह भी है कि आपके दैनिक जीवन में फिजिकल एक्टिविटी बिल्कुल भी ना करना। शरीर में कोलेस्ट्रॉल लेवल बढ़ने से हार्ट अटैक, हार्ट फेलियर और स्ट्रोक जैसी समस्या का सामना कोलेस्ट्रोल मरीजों को करना पड़ता है। कुछ लोगों को इस बीमारी के ज्यादा खतरनाक  चान्सेस होते हैं।  सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रीवेंशन के अनुसार कई बीमारी आपके लाइफस्टाइल और फैमिली हिस्ट्री के कारण होती है और इसमें कोलेस्ट्रोल का खतरा ज्यादा बढ़ जाता है। कुछ चीजों के बेहतर परहेज से आप  खतरे को कम कर सकते हैं आइए जानते हैं कोलेस्ट्रॉल बढ़ने के क्या कारण हैं।

सीडीसी का मानना है कि सैचुरेटेड  ट्रांस फैट युक्त को फूड के ज्यादा सेवन करने से कोलेस्ट्रोल बढ़ने का चांस काफी ज्यादा बढ़ जाता है।  सैचुरेटेड और ट्रांस फेट फूड में शामिल है घी , मक्खन ,  मीट, बिस्किट, चीज, एक्सरसाइज ना करने वाले लोग, अगर आप स्वस्थ जीवन जीना चाहते हैं तो आपको रोजाना आधा घंटा कम से कम समय निकालकर एक्सरसाइज करना चाहिए। एक्सरसाइज नहीं करने से फिजिकल एक्टिविटी नहीं होती है जिससे आपके ब्लड में कोलेस्ट्रोल के खतरे बढ़ जाते हैं। जो बाद में मोटापे का भी कारण बनता है।

स्मोकिंग करने वाले लोग स्मोकिंग के चलते आपकी ब्लड सेल्स डैमेज हो जाती है और इसमें फैट जमा होने लगता है। स्मोकिंग के कारण भी शरीर में कोलेस्ट्रॉल कम होने लगते हैं और बैड कोलेस्ट्रॉल बढ़ जाते हैं।

कुछ लोगों को जन्म से ही हाइपर्कोलस्ट्रॉलेमिया की समस्या होती है शरीर में बढ़ने वाले बेड कोलेस्ट्रॉल के कारण यह समस्या का सामना काफी कम उम्र से ही करना पड़ता है। अगर इसका इलाज समय से किया जाए तो इसे ठीक किया जा सकता है।

उम्र के कारण भी कोलेस्ट्रॉल बढ़ता है  जैसे -जैसे आपकी उम्र बढ़ती है शरीर में ब्लड  कोलेस्ट्रॉल  अलग करने में असमर्थ होने लगता है। 55 साल की उम्र के बाद महिलाओं एवं पुरुषों में कोलेस्ट्रोल बड़ता है। महिलाओं में पुरुषों की तुलना में कम होता है।


Latest News