News in Hindi

शरीर के इन अंगों में हो रहे दर्द को न लें हल्के में, हो सकता है हार्ट अटैक का लक्षण

भागदौड़ भरी जिंदगी में जहां आराम की कमी हो रही है, वहीं स्ट्रेस तेजी से बढ़ रहा है। यह स्ट्रेस ही कई बीमारियों को न्यौता देता है। यही वजह है कि इन दिनों जवान लोगों को भी हार्टअटैक्स आने लगे हैं। हम सभी जानते हैं कि हार्ट अटैक्स जानलेवा हो सकते हैं, ऐसे में अगर थोड़ी सी सावधानी बरती जाए, तो हम अपने दिल का बेहतर ख्याल रख सकते हैं और किसी अनहोनी को टाल सकते हैं। हम यहां आपको हार्ट अटैक के लक्षण बताने जा रहे हैं।

ऐसे आता है हार्ट अटैक

सबसे पहले यह समझना जरूरी है कि दिल का दौरा आखिर क्यों पड़ता है। जब हमारे दिल तक खून पहुंचाने वाली किसी एक या एक से ज्यादा धमनियों में जमे वसा के थक्के के कारण रुकावट आ जाती है, तो खून का प्रवाह रुक जाता है। खून नहीं मिलने से दिल की मांस पेशियों में ऑक्सीजन की कमी हो जाती है। अगर जल्दी ही खून का प्रवाह ठीक न किया जाए तो दिल की मांसपेशियों की गति रुक जाती है और हार्ट अटैक आता है। अधिकांश मामलों में थक्के के फट जाने से ही मौत होती है।

इन लक्षणों को न करें नजरअंदाज

– अगर आपको सीने में असहजता या दर्द की शिकायत हो तो तुरंत डॉक्टर के पास जाएं। सीने के केंद्र में कुछ मिनट तक तेज दबाव या जकडऩ के अहसास को भी नजरअंदाज न करें।

– हार्ट अटैक में आपको सांस उखडऩे की शिकायत हो सकती है, साथ ही आप गहरी सांसे लेने लगते हैं। यह परस्थिति आमतौर पर छाती में असहजता से पहले हो सकती है।

– दर्द और असहजता की यह स्थिति छाती से लेकर आपके कंधों, बाजुओं, कमर, गर्दन, दांतों या जबड़ों तक पहुंच सकती है। इतना ही नहीं आपके शरीर के ऊपरी हिस्से में यह र्दर्द सीने में बिना किसी असहजता के भी हो सकता है। इसलिए ऐसे किसी दर्द को नजरअंदाज न करें।

– आपकेा बिना कारण या बिना वर्कआउट के पसीना आने लगे या ठंड लगने लगे या आपकी स्किन चिपचिपी होने लगे, या फिर आपको उल्टी का अहसास हो तो तुरंत डॉक्टर के पास जाएं।