इन आयुर्वेदिक जड़ी बूटियों से पा सकते हैं तेज दिमाग

यहां पढ़ें दिमाग को स्वस्थ रखने के लिए आयुर्वेद के कुछ नुस्खे

सदियों से आयुर्वेद हमारी चिकित्सा का अहम हिस्सा रहा है। आयुर्वेद में दिमाग को स्वस्थ रखने का खजाना छिपा है। बेशकर हमारा दिमाग स्वस्थ रहेगा तो हम भी स्वस्थ और तरोताजा रह सकेंगे। इस भागदौड़ भरी जिंदगी में करीब करीब हर व्यक्ति तनाव से ग्रसित है। आयुर्वेद में तनाव भगाने के लिए भी उपचार उपलब्ध है। जटामासी, एंटी स्ट्रेस हर्ब के रूप में जानी जाती है। तनाव दूर करने के लिए जटामासी की जड़ों का उपयोग किया जाता है। इसका इस्तेमाल बालों में लगाने वाले तेल में भी किया जा सकता है।

यहां पढ़ें दिमाग को स्वस्थ रखने के लिए आयुर्वेद के कुछ नुस्खे –

– ब्राह्मी का नाम तो आपने सुना ही होगा। इसका इस्तेमाल भी तनाव कम करने के लिए किया जाता है। ब्राह्मी में तनाव कम करने वाले हॉर्मोन कोर्टिसोल को कम करने की क्षमता होती है। ब्राह्मी दिमाग को शांत रखने के साथ ही एकाग्रता बढ़ाने में भी मददगार है।

– भृंगराज भी दिमाग को निरंतर एनर्जी देता है। इससे मस्तिष्क में रक्त प्रवाह दुरुस्त रहता है। इसके तेल से सिर की मसाज करने से तनाव दूर होता है।

– अश्वगंधा भी ऐसी ही एक जड़ी बूटी है। इसमें एमीनो एसिड और विटामिन का बेहतरीन संयोजन पाया जाता है जिससे दिमाग को एनर्जी मिलती है और स्टैमिना भी मजबूत होता है।

तनाव शरीर को कई तरह से नुकसान पहुंचाता है। इसकी वजह से शरीर में पित्त, कफ और वात का संतुलन बिगड़ जाता है। वहीं इससे एलर्जी, अस्थमा, हाई कोलेस्ट्रॉल और हाइपरटेंशन जैसी समस्याएं होती हैं। वहीं डिप्रेशन की सबसे बड़ी वजह भी स्ट्रेस ही है। आयुर्वेद में दिमाग को तनाव मुक्त करने का राज उपलब्ध है। हालांकि आप इन जड़ी बूटियों का इस्तेमाल डॉक्टर की सलाह से ही करें।

Leave A Reply

Your email address will not be published.