News in Hindi

खून की कमी पूरी करती है सौंफ, इन तरीकों से करें डायट में शामिल

आमतौर पर हर रेस्टोरेंट में खाने के बाद सौंफ सर्व की जाती है। यह न केवल मुंह की बदबू से छुटकारा दिलाती है, बल्कि खाया पिया जल्दी से हजम करने में भी मदद करती है। इसके अलावा सौंफ पीरियड्स में होने वाली दर्द से भी राहत दिलाता है। कई अध्ययनों में यह साबित हो चुका है कि सौंफ खाने से वजन कम करने में भी मदद मिलती है। वहीं यह एनीमिया जैसी बीमारियों से भी बचाता है।

देखा जाए तो सौंफ गुणों और स्वास्थ्य का खजाना है। यह छोटे छोटे बीज आपके जीवन में बड़ा बदलाव ला सकते हैं। अगर अभी भी आप यह नहीं समझ पा रहे हैं कि इन्हें रोजाना कैसे खाया जाए, तो हम आपकी इस मुश्किल को भी आसान कर देते हैं।

1. शरबत

7 से 8 गिलास पानी में एक कप सौंफ और एक कप चीनी मिलाएं और इसे रातभर के लिए ऐसे ही रहने दें। अगर दिन इस पानी को छानकर पी लें। अगर सौंफ का फ्लेवर तेज आ रहा है तो आप इसमें और पानी भी मिला सकते हैं।

2. वेजिटेबल या मीट स्टॉक

मीट स्टॉक या वेजिटेबल सूप में सौंफ का इस्तेमाल करें। इससे न केवल डिश का स्वाद बढ़ जाता है, बल्कि यह उसकी पौष्टिकता भी बढ़ा देती है।

3. दाल

दाल या सब्जी को और स्वादिष्ट बनाने के लिए तड़का लगाते समय सरसों के बीच के साथ सौंफ के बीज भी डाल दें।

4. चाय

गर्मियों व मॉनसून में चाय बनाते समय उबलते पानी में कुछ बीज सौंफ के मिला दें। चाय में चीनी की जगह शहद का इस्तेमाल करें। ध्यान रखें कि दूध डालकर बनने वाली चाय में कभी भी सौंफ न डालें।

5. अचार

अचार बनाते समय इसमें सौंफ का इस्तेमाल जरूर करें। कुछ अचार तो बिना सौंफ के अच्छे ही नहीं लगते। सौंफ अचार को और चटपटा बना देती है।

6. सलाद

जी हां, आप सलाद पर भी सौंफ का पाउडर डालकर खा सकते हैं। इससे सलाद की पौष्टिकता और बढ़ जाती है।

7. डेजर्ट

आप सौंफ का इस्तेमाल मीठी चीजों में भी कर सकते हैं। आप चाहें तो दही या फ्रूट सलाद में भी सौंफ का पाउडर डाल कर खा सकते हैं। पैन केक या मालपुआ में भी इसका इस्तेमाल कर सकते हैं।