Inverter Battery में कौन सा पानी यूज करें और कब डालें , जानें यहां सभी डिटेल

नई दिल्ली: Inverter Battery Water Change Time: देश के कई हिस्सों में अभी गर्मी ने सारे रिकॉर्ड तोड़ें हुए हैं। ऐसे में एक दिन बिना किसी लाइट के रहना मुश्किल सा हो जाता है। ऐसे में कोई मजाक में भी पंखा बंद कर दें तो दिमाग खराब हो जाता है। कई बार लाइट जानें से ज्यादा दुख होता है।

ऐसे में पावर बैकअप के लिए लोग अपने घर या ऑफिस में इन्वर्टर का इस्तेमाल करते हैं। जहां कुछ समय बाद इनवर्टर की बैटरी में पानी डालने की जरूरत पड़ जाती है। ऐसे में जरूरी जानना हैं कि बैटरी में कब पानी डालना चाहिए? और कौन से पानी का यूज करना चाहिए? आइए इसके बारे में विस्तार के साथ जानें…

कब डालें इनवर्टर में पानी?

कुछ एक्सपर्ट्स का कहना है कि इनवर्टर की बैटरी का पानी रेगुलर बदलना चाहिए। इससे बैटरी लाइफ और भी बेहतर हो जाती है लेकिन ये पहले से भी अच्छे ढंग से काम करती है। हालांकि बहुत से लोगों के मन में इसको लेकर कई सवाल होते है कि बैटरी में पानी बदलने का सही समय क्या है इसे कब बदलना चाहिए।

इतने दिन में बदलें पानी

एक्सपर्ट्स का कहना है कि हर 45 दिन में आपको इन्वर्टर बैटरी के पानी का लेवल चेक करना चाहिए। खासकर पानी मिनिमम लेवल पर होना चाहिए इस बात का ध्यान जरूर रखें। वरना आपको बड़े नुकसान को झेलना पड़ सकता है।

इन्वर्टर बैटरी में कौन-सा वाटर करें यूज?

आपको जानकारी के लिए बता दें कि इनवर्टर की बैटरी में सिर्फ डिस्टिल्ड वाटर ही डालना चाहिए। गलती से भी इसमें आपको खारा या RO वाटर का यूज नहीं करना चाहिए। इससे बैटरी खराब होने का खतरा बढ़ जाता है। डिस्टिल्ड वॉटर आप चाहें तो ऑनलाइन या फिर ऑफलाइन मार्केट से भी खरीद सकते हैं। ये आपको कहीं भी आसानी से मिल जाएंगे।