Times Bull
News in Hindi

Tubelight Review : फिर इमोशनज कर गए सलमान, टिपिकल है स्टोरी

Tubelight movie review : Salman Khan fails to impress, his fans will go gaga

सलमान खान की ईदी यानी कि उनकी फिल्म ट्यूबलाइट 23 जून को रिलीज हो गई है। फिल्म टिपिकल सलमान खान स्टाइल में है। कहानी सलमान खान और सोहेल खान के भाईचारे की है। फिल्म अमेरिकन-मैक्सिकन फिल्म लिटिल ब्वॉय से ऑफिशियली ली गई है। एक बार फिर सलमाना इमोशनल फिल्म लेकर आए हैं। फिल्म में भर भर कर इमोशंस हैं। भाई-भाई का ब्रोमांस, शाहरुख खान, बहुत सारा यकीन और युद्ध में अपनों को खो देने का गम, ट्यूबलाइट फिल्म में सब है।

वैसे फिल्म के नाम से ही समझ आता है, कि यह एक ऐसे शख्स की कहानी है, जिसे चीजें जरा देर से समझ आती हैं। ट्यूबलाइट की कहानी जगतपुर कुमाऊं में रहने वाले लक्षमण और भरत यानी कि कप्तान और पार्टनर की है। लक्षमण बड़ा भाई है। बहुत भोला है और हर बात जरा देर से समझता है। स्कूल और मोहल्ले के बच्चे उसे ट्यूबलाइट कहते हैं। छोटा भाई भरत स्कूल में लड़कां को पीटता है।

फिल्म 1962 के भारत-चीन युद्ध की पृष्ठभूमि पर है। भरत देश सेवा के लिए सीमा पर जाता है, तो लक्षमण अकेला हो जाता है। गांव में बार बार युद्ध से शहीदों की लाशों का आना और लक्ष्मण का अपने भाई को एक झलक देखने की उम्मीद इमोशनल करती है। चीनी एक्ट्रेस झूझू प्रवासी चीनी बनी हैं। उनके बेटे के किरदार में मटिन युद्ध के बीच अपनी जड़ें और अपना अस्तित्व बचाने की कोशिश करते नजर आते हैं।

एक्टिंग की बात करें तो पूरी फिल्म सलमान के इर्द गिर्द घूमती है। वैसे यह कोई नई बात नहीं है। सलमान की हर फिल्म उन पर ही फोकस्ड होती है। दिवंगत अभिनेता ओम पुरी और मोहम्मद जीशान की एक्टिंग भी दिल को लुभाती है। झूझू की एक्टिंग से ज्यादा उनकी क्यूटनेस को प्रमोट किया गया है। मटिन का किरदार बहुत प्यारा है। फिल्म में शाहरुख का कैमियो है। वे जादूगर बनकर आते हैं और लक्ष्मण को जादू देकर जाते हैं। बात करें सलमान की एक्टिंग की तो वो इस फिल्म में और भी क्यूट लग सकते थे, लेकिन कई जगह उनकी डायलॉग डिलिवरी रटी रटाई स्क्रिप्ट जैसी सपाट लगती है। सोहेल खान की एक्टिंग देखकर लगता है मानों वो न्यूकमर हों। सलमान से ज्यादा ट्यूबलाइट सोहेल लग रहे हैं।

Timesbull की तरफ से फिल्म ट्यूबलाइट को – 2.5 स्टार

Loading...