शरणार्थियों की कहानी है शिकारा : विधु विनोद चोपड़ा

मुंबई, आने वाली फिल्म ‘शिकारा : द अनटोल्ड स्टोरी ऑफ कश्मीरी पंडित’ के ट्रेलर लॉन्च के मौके पर फिल्म निर्माता विधु विनोद चोपड़ा ने कहा कि वह हर प्रकार की हिंसा जैसे आज वर्तमान में हो रहा है या फिर जो 30 साल पहले कश्मीर में हुआ था, दोनों के खिलाफ हैं। चोपड़ा का इशारा 19 जनवरी, 1990 को कश्मीरी पंडितों के साथ हुई भयावह हिंसा के बाद उनके पलायन के ओर था, जो फिल्म का विषय भी है।

ट्रेलर लॉन्च के मौके पर मंगलवार को फिल्म की कास्ट के साथ संयोग से एआर रहमान भी यहां दिखाई दिए। फिल्म का म्यूजिक उन्होंने ही दिया है। इवेंट में मीडिया से बात करते हुए चोपड़ा ने कश्मीर में हुई हिंसा और देशभर में हो रही छात्रों के साथ हिंसा की घटना पर अपनी प्रतिक्रिया दी।

चोपड़ा ने कहा, “मैं सभी तरह की हिंसा की निंदा करता हूं। 30 साल पहले हुई हिंसा और वर्तमान में हो रही हिंसा की मैं निंदा करता हूं। लेकिन कहीं न कहीं मेरे दिल की गहराई में आशावादी व्यक्ति है। शायद इसलिए, क्योंकि मैं कश्मीर से हूं और कविता से जुड़ा हुआ हूं।”

उन्होंने आगे कहा, “मुझे लगता है कि किसी दिन यह बर्फ पिघलेगी और वसंत आएगा। मैं यह बात पूरी सच्चाई के साथ कह सकता हूं। मुझे उम्मीद है कि किसी दिन हममें से हर एक के लिए भारत का उदय होगा।”