News in Hindi

दिव्या भारती की मौत के यह 5 रहस्य शायद ही जानते होंगे आप

छोटी सी ही उम्र में नाम, दौलत, शौहरत, फेम सब हासिल कर दुनिया को अलविदा कह चुकी दिव्या भारती अगर आज जीवित होतीं तो यह उनका 43वां जन्मदिन होता (25 फरवरी)। दिव्या भारती 90 के दशक में दर्शकों के दिल पर राज करती थीं। अपनी मनमोहक अदाओं और खूबसूरती से उन्होंने हर किसी को दीवाना बना दिया था।

महज 16 साल की उम्र में फिल्मी दुनिया में कदम रखने वाली दिव्या की मौत 19 साल की उम्र में हो गई थी, लेकिन इन चार सालों में उन्होंने अपने हुनर और खूबसूरती के दम पर बॉलीवुड पर राज किया था। उनकी मौत से जुड़े 5 फैक्ट्स यहां पढ़ें।

1. यह सुसाइड था या मर्डर

यह आज तक एक रहस्य ही है कि दिव्या भारती के साथ 5 अप्रेल 1993 की रात आखिर हुआ क्या था। उनकी मौत एक हादसा थी, सुसाइड था या प्लान किया गया मर्डर। पुलिस भी इस मामले में अपने हाथ खड़े कर चुकी है। उस सयम की खबरें तो ये कहती हैं कि वे वर्सोवा स्थित तुलसी अपार्टमेंट के पांचवें माले से गिर गईं थीं जिसकी वजह से उनकी मौत हो गई। मुंबई पुलिस इस केस को सुलझा नहीं पाई और आखिरकार उन्होंने 1998 में यह केस बंद कर दिया।

2. मौत का षड्यंत्र

अचानक से बॉलीवुड की टॉप एक्ट्रेस की मौत होने से हर कोई दुखी था, वहीं कुछ लोग इस मौत को षड्यंत्र बता रहे थे। दिव्या ने बहुत कम समय में और बहुत ही छोटी सी उम्र में बॉलीवुड में वो मुकाम हासिल कर लिया था, जिसका ख्वाब हर एक्टर देखता है। एक थ्योरी कहती है कि दिव्या का मर्डर उनके पति साजिद नाडियाडवाला ने किया था, वहीं दूसरी थ्योरी कहती है कि साजिद के अंडरवर्ल्ड से कनेक्शन, उनसे दिव्या के बिगड़ते रिश्ते और दिव्या की मां से खटपट से दुखी होकर दिव्या ने सुसाइड कर लिया होगा। षड्यंत्र की थ्योरी यह कहती है कि अगर दिव्या बालकनी में से बैलेंस बिगडऩे के कारण गिरी होतीं तो वे नीचे सीध पर गिरतीं, लेकिन वे अपने अपार्टमेंट की दीवार से काफी दूर गिरीं थीं, तो हो सकता है कि उन्हें पीछे से किसी ने धक्का दिया हो। इस मौत की असली वजह आज तक कोई नहीं जानता।

3. उस दुखद रात का सच

तारीख : 5 अप्रेल 1993
जगह : तुलसी अपार्टमेंट का पांचवा माला
समय : रात 11 बजे

बॉलीवुड की मशहूर फैशन डिजाइनर नीता लुल्ला के अनुसार उस दोपहर नीता ने दिव्या से मिलने की चाह जाहिर की थी। वे दिव्या की आने वाली फिल्म के लिए उनसे कॉस्ट्यूम को लेकर चर्चा करना चाहती थीं। दिव्या भी अपने अपार्टमेंट में उनसे मिलने के लिए राजी हो गईं। नीता और उनके पति रात 10 बजे दिव्या के अपार्टमेंट में पहुंचे। उस समय उनके घर में उनकी मेड अमृता भी मौजूद थी। नीता यह दावा करती हैं कि जब वे अपने पति के साथ दिव्या के अपार्टमेंट पहुंचे तो दिव्या ने शराब पी रखी थी और वे एक और पैग बना रही थीं। दोनों उनके लिविंग रूम में बैठे हुए थे। उस समय दिव्या अपनी मेड से लगातार बात कर रही थीं जबकि उनकी मेड किचन में थीं। वे उनसे बात करती हुई खिड़की की तरफ बढ़ीं तभी नीता देखा कि दिव्या खिड़की में बैठने की कोशिश कर रही हैं। जब तक वे दोनों उन्हें दौड़कर सहारा दे पाते तब तक दिव्या उस खिड़की से नीचे गिर चुकी थीं। उनकी मौत के बाद सवाल उठाए गए कि क्या दिव्या बैलेंस बिगडऩे के कारण गिर गईं या उन्होंने सुसाइड किया या फिर उन्हें किसी ने धक्का दिया? पुलिस इन में से किसी भी सवाल का जवाब नहीं तलाश पाई।

4. दिव्या भरती के अंतिम पल

दिव्या के लिविंग रूम में कोई बालकनी नहीं थी, लेकिन एक ओपन विंडो जरूर थी। इस विंडो में ग्रिल्स नहीं लगी हुई थीं। इस विंडो के ठीक नीचे पार्किंग लॉट था, लेकिन उस रात वहां कोई गाड़ी पार्क नहीं थी। दिव्या इस खिड़की के ठीक थोड़ा सा नीचे एक पतली सी पट्टी पर बैठी थीं। उस समय उनकी पीठ उनके लिविंग रूम की तरफ थी। ऐसा माना जाता है कि उस पट्टी से उठने के लिए वे विंडो का फ्रेम पकडऩे की कोशिश में जरा सा मुड़ीं। वे फ्रेम नहीं पकड़ पाईं और लडख़ड़ा का नीचे गिर गईं।

5. दिव्या ने कब ली अंतिम सांस

खिड़की से गिरने के बाद दिव्या जमीन पर खून में लथपथ पड़ी थीं, हालांकि उस वक्त उनकी सांसे चल रही थीं। जब उन्हें अस्पताल ले जाया जा रहा था तब तेजी से उनकी पल्स रेट गिरने लगी। दिव्या ने अंतिम सांस मुंबई के कूपर अस्पताल के इमर्जेंसी डिपार्टमेंट में ली। वह वक्त डॉक्टर्स से लेकर फिल्म जगत और उनके फैन्स सबसे के लिए बेहद शॉकिंग और दुखद था।