Times Bull
News in Hindi

इन फ्रीडम फाइटर्स को बॉलीवुड ने भी किया सलाम

पेट्रिओटिज्म की बात की जाए, तो सबसे पहले उन लोगों का नाम आता है, जिनके बलिदान और काम ने देश को आजाद करवाने में अहम भूमिका निभाई थी। बॉलीवुड ने भी इन फ्रीडम फाइटर्स को अपनी फिल्मों के जरिए सलाम किया है। इंडिपेंडेंस डे सीरीज के तहत पत्रिका ने ऎसे फ्रीडम फाइटर्स पर नजर डाली…जिनका काम फिल्मकारों के लिए प्रेरणा बना और उन्होंने उन पर फिल्में बनाई

चिटगांव आंदोलन में सूर्य सेन और कल्पना दत्ता की अहम भूमिका रही थी। इस पर 2010 में आशुतोष गोवारीकर ने फिल्म “खेलें हम जी जान से” बनाई। इसमें अभिषेक बच्चन और दीपिका पादुकोण लीड रोल में थे। इसी आंदोलन पर 2012 में फिल्म “चिटगांव” आई, जिसमें मनोज वाजपेयी ने सूर्य सेन की भूमिका निभाई।

हिस्टोरिकल फ्रीडम फाइटर मंगल पांडे पर 2005 में “मंगल पांडे : द राइजिंग” मूवी बनी थी। 1857 की क्रांति में मंगल की अहम भूमिका रही थी। इसी विषय को उठाते हुए फिल्म का निर्माण किया गया था। केतन मेहता निर्देशित इस फिल्म में आमिर खान ने मुख्य भूमिका निभाई। इस फिल्म की स्क्रीनिंग कान फिल्म फेस्टिवल में भी हुई।

फ्रीडम फाइटर्स की बात हो और गांधीजी का नाम ना आए, ऎसा हो ही नहीं सकता। बॉलीवुड में गांधी से इंस्पायर्ड कई मूवीज बनी हैं। बेन किंग्सले स्टारर “गांधी” (1982) को ऑडियंस ने काफी पसंद किया। रिचर्ड एटनबर्ग निर्देशित इस फिल्म में गांधी के जीवन से जुड़ी विभिन्न बातों को सहेजा गया था। इसके अलावा “द मेकिंग ऑफ महात्मा”, “गांधी, माइ फादर”, “मैंने गांधी को नहीं मारा” जैसी फिल्में भी गांधीजी पर बनी हैं।

ओडिशा के फ्रीडम फाइटर गौर हरि दास पर डायरेक्टर अनंत महादेवन ने “गौर हरि दास : द फ्रीडम फाइल” बनाई है। शुक्रवार को रिलीज हो रही मूवी में विनय पाठक टाइटल रोल में हैं। इसमें गौर हरि के 32 साल लम्बे साइलेंट मूवमेंट पर फोकस किया है।

फ्रीडम फाइटर्स में सरदार वल्लभभाई पटेल का नाम भी प्रमुख रहा है। 1993 में केतन मेहता ने उनके व्यक्तित्व पर आधारित मूवी “सरदार” बनाई। फिल्म में परेश रावल ने सरदार की भूमिका अदा की थी। यह उनके कॅरियर की बेहतरीन फिल्मों में से एक है।

जयराज अभिनीत फिल्म “चंद्रशेखर आजाद” (1963) फ्रीडम फाइटर आजाद के जीवन पर बेस्ड थी। इतना ही नहीं, भगत सिंह पर बनी फिल्मों में भी चंद्रशेखर आजाद के कैरेक्टर पर खास फोकस किया गया, क्योंकि उन्होंने आजादी दिलाने में अहम भूमिका निभाई थी। “23 मार्च…” में सनी देओल और “द लीजेंड…” में अखिलेंद्र मिश्र ने आजाद के किरदार में सबसे ज्यादा ध्यान आकर्षित किया।

फ्रीडम फाइटर्स पर बनने वाली मूवीज में भगत सिंह बॉलीवुड डायरेक्टर्स के बीच फेवरिट कैरेक्टर रहे हैं। 1965 में आई फिल्म “शहीद” में मनोज कुमार ने अपने अभिनय से भगत सिंह के किरदार को जीवंत कर दिया। इसके अलावा 2002 में अजय देवगन (द लीजेंड ऑफ भगत सिंह), बॉबी देओल (23 मार्च 1931 : शहीद) और सोनू सूद (शहीद-ए-आजम) भी भगत सिंह के किरदार में नजर आ चुके हैं। इन फिल्मों में सुखदेव और राजगुरू के कैरेक्टर्स को भी काफी तारीफ मिली थी।

फ्रीडम फाइटर्स पर बनी अन्य फिल्मों में “नेताजी सुभाष चन्द्र बोस : द फॉरगोटन हीरो” (2005), लाल बहादुर शास्त्री पर “जय जवान जय किसान” (2015), “वीर सावरकर” (2001), रानी लक्ष्मी बाई पर “झांसी की रानी” (1953) शामिल हैं। जल्द ही कंगना रनौत भी लक्ष्मी बाई के रोल में दिखेंगी। इसके अलावा अन्य भाषाओं में “शहीद उद्यम सिंह”, “लोकमान्य : एक युग पुरूष”, “डॉ. बाबासाहेब अम्बेडकर” जैसी कई फिल्में फ्रीडम फाइटर्स पर बनी हैं।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.