अमरावती, एक और दिल जीत लेने वाला काम करते हुए अभिनेता सोनू सूद ने रविवार को आंध्र प्रदेश के एक किसान को घंटों के भीतर एक ट्रैक्टर मुहैया करा दिया। जैसे ही सूद को पता चला कि बैल किराए पर न ले पाने के कारण किसान अपनी बेटियों का इस्तेमाल जुताई के लिए कर रहा है, उन्होंने तत्काल किसान परिवार की मदद की। किसान की बेटियों के कंधे पर बैल की तरह हल रखकर खेत की जुताई करने का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया था। जिसके बाद सोनू सूद ने रविवार सुबह वादा किया था कि परिवार को शाम तक ट्रैक्टर मिल जाएगा।

अपने वादे के मुताबिक, अभिनेता ने यह सुनिश्चित किया कि ट्रैक्टर चित्तूर जिले के महालराजुवारी पल्ले गांव में इस किसान परिवार तक पहुंचे।

उन्होंने शनिवार रात ट्वीट किया था कि रविवार सुबह तक किसान के पास बैलों की एक जोड़ी होगी। उन्होंने ट्वीट किया, “कल सुबह तक उनके पास खेतों की जुताई करने के लिए बैलों की एक जोड़ी होगी। लड़कियों को उनकी शिक्षा पर ध्यान देने दें।”

हालांकि सुबह उन्होंने फिर से ट्वीट किया, “यह परिवार बैल की एक जोड़ी के नहीं बल्कि एक ट्रैक्टर के लायक है। इसलिए आपको शाम तक एक ट्रैक्टर भेज दिया जाएगा जो आपके खेतों की जुताई करेगा।”

दो दशकों से चाय की दुकान चला रहे वीरथल्लू नागेश्वर राव को कोविड-19 के कारण अपना यह काम बंद करना पड़ा। पैसे न होने के कारण वे जुताई के लिए बैल किराए पर नहीं ले सके। तब वह अपनी बेटियों वेनेला (12 वीं कक्षा) और चंदना (दसवीं कक्षा) को बैल के स्थान पर इस्तेमाल करने के लिए मजबूर हो गए। वह धरती को नरम करने के लिए ब्लेड पकड़े हुए था और उनकी पत्नी ललिता बीज छिड़क रही थी।

स्थानीय ट्रैक्टर डीलर ने उनके गांव में आकर ट्रैक्टर पहुंचाया।

सोनू सूद के इस कदम ने न केवल परिवार का बल्कि प्रशंसकों का भी दिल जीत लिया। सोशल मीडिया पर उनके इस कदम की खासी प्रशंसा हो रही है।

संयोग से यह बॉलीवुड अभिनेता टॉलीवुड फिल्मों में भी काफी लोकप्रिय है। उन्हें एक दशक पहले रिलीज हुई तेलुगु ब्लॉकबस्टर फिल्म ‘अरुंधति’ में खलनायक के रूप में खासी पहचान मिली।

आंखों में आंसू भरकर किसान ने कहा, “मुझे नहीं पता कि इस मदद के लिए मैं उन्हें कैसे धन्यवाद दूं। एक दिन पहले हमारे पास बैल किराए पर लेने के लिए पैसे नहीं थे और आज उन्होंने हमें ट्रैक्टर का मालिक बना दिया है।”