जीवन पर टेक्नोलॉजी को हावी न होने दें छात्र : मोदी

नई दिल्ली. ‘परीक्षा पर चर्चा’ कार्यक्रम में विद्यार्थियों, शिक्षकों और अभिभावकों को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को कहा कि विद्यार्थियों को चाहिए वे टेक्नोलॉजी को एक मित्र की तरह देखें, लेकिन उसे अपने जीवन पर हावी न होने दें। सोशल नेटवर्किं ग को महत्वपूर्ण बताते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि आज मीडिया के माध्यम से सोशल नेटवर्किं ग का बोलबाला है।

प्रधानमंत्री ने जीवन पर टेक्नोलॉजी के हावी न होने देने तथा लोगों को बाहर निकलने और व्यक्तिगत रूप से लोगों के साथ बातचीत करने के लिए प्रोत्साहित किया।

प्रधानमंत्री ने कहा कि विद्यार्थियों को चाहिए कि वे इस बात को सुनिश्चित करें कि प्रतिदिन कम से कम एक घंटा वे टेक्नोलॉजी से दूर रहें। उन्होंने इस मौके पर इकट्ठा हुए विद्यार्थियों, अभिभावकों और शिक्षकों से अनुरोध किया कि वे घर में एक कमरा ऐसा रखें, जो पूरी तरह से प्रौद्योगिकी से दूर हो।

प्रधानमंत्री मोदी दो विद्यार्थियों, सिक्किम से दीपेश राय और अंडमान एवं निकोबार की दिव्या द्वारा प्रौद्योगिकी के महत्व के बारे में पूछे गए सवालों के जवाब में ये बातें कही।

‘परीक्षा पर चर्चा’ परीक्षा से संबंधित तनाव को दूर करने और विद्यार्थियों की मदद करने के लिए प्रधानमंत्री द्वारा शुरू की गई एक पहल है। इस कार्यक्रम में देशभर के विद्यार्थियों ने प्रधानमंत्री से प्रश्न पूछे। वहीं कुछ चुने हुए छात्रों को उनसे मिलने के लिए यहां बुलाया गया है।