नई दिल्ली: किसानों के बाद अब देखा जाए तो अब केंद्र सरकार संगठित क्षेत्र में काम कर रहे कर्मचारियों के हित में एक और बड़ा फैसला लेने वाली है जिसका फायदा उनको जल्द ही मिल सकता है। सुनकर आप भी खुशी से झूम उठना शुरु कर देंगे। क्योंकि श्रम मंत्रालय ने इसके संकेत साफ तौर पर देना शुरु कर दिया है। बताया जा रहा है कि (EPFO) पेंशन को अब बढ़ाकर 9000 रुपये होने जा रहा है।

अब तक कर्मचारियों को EPFO ​​पेंशन के तौर पर सिर्फ 1000 रुपये मिल रहे हैं। जानकारी के मुताबिक मुताबिक जून में होने वाली बैठक में श्रम मंत्रालय यह ऐतिहासिक फैसला लेने जा रही है। जिसका लाभ देश के करोड़ों कर्मचारियों को मिलने जा रहा है।

अभी नहीं की गई है घोषणा

हालांकि इस बारे में अभी तक कोई आधिकारिक घोषणा नहीं हुई है। लेकिन सूत्रों ने दावा कर दिया है कि इस मामले में सिर्फ औपचारिक घोषणा बाकी रह गई है। जानकारी के मुताबिक फरवरी में होने वाली बैठक में श्रम मंत्रालय इस संबंध में फैसला होने जा रहा है।

इस बैठक में कयास लगाया गया है कि नए वेज कोड पर फैसला लिया जाना है। जानकारी के मुताबिक इस अहम बैठक का मुख्य एजेंडा कर्मचारी पेंशन योजना के तहत न्यूनतम पेंशन को बढ़ाने का रखा गया है। आपको बता दें कि पेंशनभोगी लंबे समय से न्यूनतम पेंशन बढ़ाने की मांग काफी समय से हो रही है। इसको लेकर श्रम मंत्रालय की कई बैठकें और चर्चाएं हो शुरु हो गई है। इसके अलावा संसद की स्थायी समिति ने भी इस संबंध में सुझाव दिया जा चुका है। माना जा रहा है कि फरवरी की बैठक में इस पर अंतिम मुहर लगाई जा सकती है।

जानिए कितनी होने जा रही है पेंशन

जानकारी के मुताबिक, केंद्रीय ट्रेड यूनियनों ने मौजूदा न्यूनतम पेंशन को 1,000 रुपये से बढ़ाने के साथ 9,000 रुपये करने की मांग किया गया है, जबकि केंद्रीय न्यासी बोर्ड या सीबीटी इसे बढ़ाने के बाद 6,000 रुपये किया जा सकता है। ईपीएफओ के पैसे को निजी कॉरपोरेट बॉन्ड में निवेश करने का विवादित मुद्दा भी बैठक में चर्चा का विषय होने जा रहा है।

यहां भी जरूर पढ़े : Old Coins : अगर आपके पास नहीं है कोई जॉब,तो पुराने सिक्कों को बेचकर खड़ा करें करोड़ों का बिजनेस 

यहां भी जरूर पढ़े : Earn Money: 100 रुपये का ये नोट आपको रातों रात बना देगा लखपति

Recent Posts