Success Story: कई दफा जीवन में दौलत और सभी सुविधाएं होने के बाद भी हमें सफलता नहीं मिलती है, लेकिन अगर कठोर परिश्रम और पूरी मेहनत के साथ किसी भी काम को हम करने की ठान ले तो अपने लक्ष्य को हम किसी भी हाल में हासिल कर ही लेते हैं। वो कहावत तो आपने सुनी ही होगी मंजिल उन्हीं को मिलती है, जिनके सपनों में दम होता है, पंख से कुछ नहीं होता, हौसलों से उड़ान होती है। जी हां, इसी कथन को सच कर दिखाया है जयपुर के रहने वाले मनोज मीणा जी ने। इस शख्सियत ने अपने जीवन में काफी उतार – चढ़ाव देखा, लेकिन इन्होंने कभी भी अपने हौसले को कमजोर नहीं होने दिया। इस शख्स ने अपनी गरीबी और मुश्किलों से बाहर निकल अपनी किस्मत खुद लिखी। मनोज मीणा ने अपनी काबिलियत के दम पर करोड़ों का बिजनेस खड़ा कर दिया। तो आईये जानते हैं इनकी सफलता की कहानी।

तंगहाली में गुजरा बचपन
मनोज मीणा का जन्म जयपुर के एक छोटे से गांव में हुआ था। उस वक्त इनके पिता घर का पालन – पोषण करने के लिए मजदूरी का काम किया करते थे और इनकी माता बच्चों को संभालती थी। घर की आर्थिक स्थिति ठीक न होने के बाद भी मनोज के पिता ने अपने बच्चों की पढ़ाई के लिए दिन-रात जी तोड़ मेहनत की। मनोज का बचपन तंगहाली में गुजरा। घर की आर्थिक स्थिति सही ना होने की वजह से मनोज की पढ़ाई बीच में छूट गई और उनके कंधे पर परिवार की जिम्मेदारी आ गई। 30 साल के मनोज बताते हैं कि उनके पिता घर का खर्च चलाने के लिए मजदूरी किया करते थे, लेकिन पिता को पूरे दिन कड़ी धूप में मेहनत करता देख मनोज को काफी तकलीफे होती थी।

इसलिए मनोज स्कूल की पढ़ाई करने के साथ ही गांव में छोटा – मोटा काम किया करते थे, ताकि अपने वो पिता की मदद कर सकें। गांव के सरकारी स्कूल में 12 वीं पास करने के बाद मनोज ने खुद के दम पर राजस्थान यूनिवर्सिटी में अपना दाखिला कराया। कई दफा कॉलेज शुल्क समय से ना देने के कारण उन्हें कई कड़वी बातें भी सुननी पड़ी, लेकिन उन्होंने कभी हिम्मत नहीं हारी और आगे बढ़ते चले गए। मगर एक समय ऐसा आया जब BCA की पढ़ाई पूरी करते ही वो काम की तलाश में लग गए। कुछ महीने इधर-उधर काम करते रहे और घर परिवार का खर्च चलाता रहे।

डिलीवरी बॉय का किया काम 

मनोज बताते हैं कि शुरूआती दौर में उन्होंने डिलीवरी बॉय के तौर पर काम करना शुरू किया, लेकिन इस नौकरी से पूरे परिवार का खर्च चला पाना बेहद ही मुश्किल था। इसके बाद मनोज को CAAR DEKHO कंपनी से जुड़ने का मौका मिला,जहां उन्हें हर महीने 3 हजार रुपये सैलरी के तौर पर दिए जाते थे।

फिर उन्होंने खुद का छोटा का बिजनेस शुरू करने के बारे में सोचा। उन्होंने अपनी सेविंग और 2 दोस्तों की मदद से उन्होंने खुद की सॉफ्टवेयर कंपनी स्टार्ट की, लेकिन फंडिंग ना होने की वजह से उन्हें ये कंपनी कुछ ही दिनों में बंद करनी पड़ी। बिजनेस फेल होने की वजह से उन्हें काफी बुरे दौर से गुजरना पड़ा। मनोज बताते हैं कि उन्होंने वो दिन भी देखें हैं जब उनके पास कमरे का किराया चुकाने के लिए दोस्तों से उधार लेना पड़ता था। खैर वो कहते हैं न हर किसी का अच्छा दिन आता है, जी हां कुछ समय बाद उनकी जिंदगी ने एक नई उड़ान भरी और उन्हें राजस्थान पत्रिका ग्रूप से जुड़ने का अवसर प्राप्त हुआ।

इस संस्थान में करीब 2 साल करने के बाद उन्होंने नॉएडा की तरफ रुख किया, यहां उन्हें साल 2019 में न्यूज़ 24 में बतौर डिजिटल SEO हेड के रूप में अपना योगदान दिया। यहां इनके काम को बहुत पसंद किया गया, लेकिन मनोज के सपने काफी बड़े हैं। नॉएडा में काम करने के दौरान उन्हें इस बात का एहसास हुआ की कौन उनका अपना है और कौन उनके खराब वक्त में सच्चा साथी है। इसके बाद मनोज से खुद की न्यूज़ वेबसाइट स्टार्ट करने की ठान ली, उन्होंने TIMESBULL GROUP नाम से खुद की कंपनी शुरू कर दी। आज मनोज मीणा हर महीने मोटी कमाई कर रहे हैं।

यहां भी जरूर पढ़े : Old Coins : अगर आपके पास नहीं है कोई जॉब,तो पुराने सिक्कों को बेचकर खड़ा करें करोड़ों का बिजनेस 

यहां भी जरूर पढ़े : Earn Money: 100 रुपये का ये नोट आपको रातों रात बना देगा लखपति

Recent Posts