नई दिल्लीः पहले कोरोना वायरस संक्रमण की मार और अब महंगाई ने लोगों की कमर तोड़कर रख दी है। पेट्रोल-डीजल व एलपीजी सिलेंडर के दाम सातवें आसमान पर होने से आम लोगों की जेब पर बोझ बढ़ गया है। इतना ही नहीं देशभर में खाद्य पदार्थों के दाम ने भी रसोई का बजट बिगाड़ दिया है। महंगाई राष्ट्रीय राजधानी से लेकर हर राज्य में दिखाई दे रही है। इस बीच अगर आप सरसों तेल के खरीदार हैं तो यह खबर काफी मायने रखती है।

राजधानी दिल्ली के बाजार में तीन दिन के अंदर सरसों तेल की खुदरा कीमत में 10 रुपये एवं रिफाइंड में पांच रुपये लीटर की गिरावट देखने को मिली है। सोमवार को सरसों तेल खुदरा में 178 रुपये एवं रिफाइंड 140 रुपये लीटर पहुंच गया है। डालीगंज के खुदरा कारोबारी अमित गुप्ता ने बताया कि बीते शुक्रवार तक सरसों तेल 188 से 190 रुपये लीटर था।

होल सेल में कीमत घटने से खुदरा में दाम गिरे हैं। इसी प्रकार ब्रांडेड कंपनी का जो रिफाइंड 145 रुपये लीटर था, वह भी शुक्रवार को घट करके 140 रुपये हो गया है। उधर, चौक के ऑयल के थोक कारोबारी कैलाश चंद्र अग्रवाल ने बताया कि वायदा कारोबार पर अंकुश के कारण सरसों व रिफाइंड की कीमत में गिरावट आयी है।

कैलाश चंद्र अग्रवाल ने बताया इस बार सरसों की पैदावार अच्छी हुई है। इससे सरसों तेल की कमी पूरी होने के साथ ही कीमत में कमी होगी। उन्होंने कहा कि 60 दिन के भीतर इसका दाम गिरकर 140 रुपये तक पहुंचने के आसार हैं। इससे ग्राहकों को थोड़ी राहत जरूर मिलेगी।

Recent Posts

Sachin Kumar

साल 2018-20 तक हरिभूमी में डेस्क पर काम किया, जहां खबरों की प्रुखता पर प्लानिंग की।...