नई दिल्लीः वैश्विक बाजार में मंदी के चलते भारतीय मार्केट में महंगाई का पहिया थमने का नाम नहीं ले रहा है, जिसका सीधा असर आम लोगों की जेब पर पड़ रहा है। स्थिति इतनी बदतर है कि खाद्य पदार्थों को खरीदना लोहे के चने चबाना जैसा है। इतना ही नहीं गैसीय और तेल ईंधन के दाम भी बहुत ऊपर चल रहे हैं। बाजार में दालें, सब्जियां और सरसों का तेल जेब ढीली कर रहा है। दूसरी ओर राहत की बात यह है कि अगर आप सरसों का खाने योग्य तेल खरीदना चाहते हैं तो फिर अब कुछ राहत है। इन दिनों सरसों का तेल हाई लेवल रेट से करीब 50 रुपये प्रति लीटर सस्ते में बिक रहा है, जिसकी आप जल्द खरीदारी कर कर सकते हैं।

देश के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश के कई राज्यों में सरसों तेल की कीमत 160 रुपये प्रति लीटर देखने को मिली। वहीं, राज्य में बीते महीने सरसों का तेल 181 रुपये प्रति लीटर देखने को मिल रहा है। वहीं, आज 29 सितंबर गुरुवार को सरसों तेल की कीमत 155 रुपये प्रति लीटर दर्ज की गई।

  • यहां जानिए सरसों तेल का भाव

उत्तर प्रदेश के तिलहन बाजार में वीरवार को सरसों के तेल का भाव हाथरस में एक बार फिर 144 रुपये प्रति लीटर देखने को मिल रही है। वहीं, इससे पहले 28 सितंबर को गाजियाबाद की मंडी में 150 रुपये तक दर्ज किये गए। वहीं, उससे पहले लगातार दो दिन सबसे कम रेट औरैया में 144 रुपये प्रति लीटर रहे। इससे पहले लगातार चार दिन सरसों के तेल के रेट हाथरस में 144 रुपये थे।

  • कानपुर में तेल की कीमत

तेल तिलहन बाजार में आज सरसों के तेल के रेट 28 सितंबर को कानपुर में लगातार 29वें दिन 180 रुपये दर्ज किये गए। इससे पहले सरसों का तेल 31 अगस्त को हमीरपुर में महज 162 रुपये प्रति लीटर देखने को मिले थे। वहीं उससे पहले कानपुर में लगातार 21 दिन 180 रुपये प्रति लीटर दर्ज किया गया। इसी तरह सरसों के तेल के सर्वाधिक रेट 18 अगस्त को हमीरपुर में 162 रुपये प्रति लीटर दर्ज किए गए थे।


Latest News