नई दिल्ली: करीब दो साल बाद सरकार जल्द स्मॉल सेविंग स्कीम्स पर बात की जाए तो ब्याज दरों में बढ़ोतरी का ऐलान किया जा सकता है। विशेषज्ञों ने यह राय जताई जा चुकी है। विशेषज्ञों ने जानकारी दिया है कि भारतीय रिजर्व बैंक ने रेपो रेट(Reserve Bank of India repo rate) में 50 बेसिस प्वाइंट का इजाफा करने के साथ 4.90 फीसदी किया जा चुका है।

आगे भी महंगाई को काबू करने के लिए रेपो रेट में बढ़ोतरी की तैयारी किया गया है। RBI के बाद अधिकांश बैंकों ने एफडी पर ब्याज दरों में बढ़ोतरी कर दिया गया है।

ऐसे में सरकार भी देशभर के स्मॉल सेविंग स्कीम्स (small savings schemes) में बात की जाए तो निवेशकों करने वाले निवेशकों को खुशखबरी मिलने जा रही है।

सरकार स्मॉल सेविंग्स स्कीम (small savings schemes) पर ब्याज दरों की समीक्षा करेगी। इसमें ब्याज दरों में बढ़ोतरी का ऐलान किया जा सकता है।

कोरोना के बाद से सभी तरह के जमा पर निवेशकों को बहुत कम ब्याज मिलने जा रहा है। सविंग अकाउंट पर बैंक 2.5% से लेकर 3% का ब्याज दिया जा रहा है। वहीं, एक से तीन साल की एफडी 5.5%, पांच साल वाला एफडी 6.7% और पांच वर्ष की आरडी 5.8% ब्याज मिलने जा रहा है।

डाकघर में वरिष्ठ नागरिक बचत योजना पर 7.4% की दर से ब्याज दिया जा रहा है। अभी पीपीएफ 7.1%, किसान विकास पत्र 6.9% और सुकन्या समृद्धि योजना 7.6% की दर से ब्याज निवेशकों को मिलने जा रहा है।

विशेषज्ञों ने जानकारी दिया है कि इस समय आम लोगों को राहत देने को लेकर बचत पर ब्याज बढ़ाना जरूरी माना जा रहा है। कोरोना के बाद घटी आय के बीच उपभोक्ता आसमान छूती महंगाई से परेशान किया जा रहा है।

यहां भी जरूर पढ़े : Old Coins : अगर आपके पास नहीं है कोई जॉब,तो पुराने सिक्कों को बेचकर खड़ा करें करोड़ों का बिजनेस 

यहां भी जरूर पढ़े : Earn Money: 100 रुपये का ये नोट आपको रातों रात बना देगा लखपति

Recent Posts