नई दिल्ली: 7th Pay Commission: अगर आप केंद्रीय कर्मचारी हैं तो यह खबर आपके काम की हो सकती है। दरअसल केंद्रीय कर्मचारी लंबे समय से फिटमेंट फैक्‍टर (Fitment Factor) को बढ़ाने की मांग कर रहे हैं। वहीं मीडिया में खबरें आ रही हैं कि केंद्र सरकार कर्मचारियों की इस मांग को लेकर विचार कर रही है। जाहिर है कि इससे करोड़ों कर्मचारियों को फायदा होगा।

दरअसल कर्मचारियों का कहना है कि उनकी न्यूनतम यानी बेसिक सैलरी 18000 रूपये से बढाकर 26000 रूपये महीना की जाए और फिटमेंट फैक्टर को भी 2.57 गुणा से बढ़ाकर 3.68 गुणा किया जाए। जाहिर है कि अगर केंद्र सरकार फिटमेंट फैक्‍टर में बढ़ोतरी करती है तो कर्मचारियों की सैलरी में बढ़ोतरी होगी, जिससे लाखों कर्मचारियों को फायदा होगा।

सैलरी का कैलकुलेशन समझें:

मौजूदा समय में कर्मचारियों को 2.57 फीसदी फिटमेंट फैक्टर के आधार पर सैलरी मिल रही है, जिसे अगर बढाकर 3.68 फीसदी कर दिया जाए तो कर्मचारियों की न्यूनतम सैलरी में 8000 रूपये की बढ़ोतरी होगी। इस हिसाब से कर्मचारियों की न्यूनतम सैलरी बढ़कर 18000 रुपये से 26000 रुपये हो जाएगी।

इस समय किसी कर्मचारी को न्यूनतम वेतन 18,000 रुपये मिल रहा है तो, तो भत्तों को छोड़कर, उसे 2.57 फिटमेंट फैक्टर के अनुसार 46,260 रुपये (18,000 X 2.57 = 46,260) मिलेंगे। अब अगर फिटमेंट फैक्टर 3.68 हो जाए तो कर्मचारी की सैलरी 95,680 रुपये (26000X3.68 = 95,680) होगी।

यहां भी जरूर पढ़े : Old Coins : अगर आपके पास नहीं है कोई जॉब,तो पुराने सिक्कों को बेचकर खड़ा करें करोड़ों का बिजनेस 

यहां भी जरूर पढ़े : Earn Money: 100 रुपये का ये नोट आपको रातों रात बना देगा लखपति

Recent Posts