नई दिल्लीः अगर कहीं नौकरी करते हुए आपका पीएफ कट रहा है तो फिर आपकी मौज आने जा रही है। मोदी सरकार दिवाली तक पीएफ खाते में ब्याज की रकम ट्रांसफर करने जा रही है, जिसे लेकर लोगों में काफी उत्साह देखने को मिल रहा है। सरकार ने वित्तीय साल 2020-21 के लिए 8.1 ब्याज देने फैसला किया है, जो राशि बीते चालीस साल में सबसे कम बताई जा रही है।

इससे पहले वित्तीय साल में भी पीएफ कर्मचारियों को 8.5 प्रतिशत ब्याज दिया था। इस बार करीब 6 करोड़ से ज्यादा कर्मचारियों को ब्याज का लाभ मिलने जा रहा है। चर्चा है कि पीएफ काटने वाली संस्था ईपीएफओ 25 अक्टूबर से पहले ही ब्याज की रकम अकाउंट में डाल देगी। ईपीएफओ ने आधिकारिक तौर पर तो ऐसी तारीख नहीं बताई है, लेकिन मीडिया की खबरों में यह बड़ा दावा किया जा रहा है।

इसे भी पढ़ेंः EPFO: दिवाली पर पीएफ कर्मचारियों की लगेगी लॉटरी, अकाउंट में आएंगे इतने हजार रुपये

  • खाते में आएगा इतना पैसा

पीएफ खाताधारकों के अकाउंट में जल्द ही ब्याज का पैसा आने जा रहा है, जिसे लेकर लोगों में अभी से काफी उत्साह देखने को मिल रहा है। ऐसे में सबके मन में एक सवाल उठ रहा है कि पीएफ पर ब्याज का पैसा किस हिसाब से मिलेगा। इसलिए पूरा आर्टिकल पढ़ आपको यह जान लेना जरूरी है, जिससे हिसाब लगाने में कोई दिक्कत पैदा ना हो।

मोदी सरकार ने 8.1 प्रतिशत ब्याज की राशि देने की घोषणा की है। इस हिसाब से अगर आपके अकाउंट में 5 लाख रुपये पड़े हैं तो फिर करीब 40,000 रुपये से ज्यादा ब्याज मिलेगा। अगर खाते में 6 लाख रुपये की राशि जमा है तो फिर 36,000 रुपये खाते में आएंगे। इतना ही नहीं अगर 10 लाख रुपये खाते में हैं तो फिर 81,000 रुपये अकाउंट में डाले जाएंगे। जानकारी के लिए बता दें कि पीएफ कर्मचारियों को अब अगले वित्त वर्ष के ब्याज का इंतजार बड़ी ही बेसब्री से है। सरकार सालाना कर्मचारियों को जमा राशि पर ब्याज का पैसा भेजती है।


Latest News