इस बैंक से लोन लेने पर नहीं चुकाना पड़ता ब्याज, ऐसे करें लोन के लिए आवेदन

किसी भी बैंक से कोई भी तरह का लोन लेने जाओ, आपको मूल रकम पर ब्याज चुकाना ही पड़ता है। हां इस ब्याज की दर अलग अलग हो सकती है, लेकिन कभी किसी बैंक को बिना ब्याज के लोन देते देखा है। असल में ऐसा एक बैंक है। इस बैंक का नाम है इस्लामिक बैंक।
इस्लामिक बैंक अरब देशों में व्यापार करता है। करीब 56 इस्लामिक देश इस बैंक के सदस्य हैं। इस्लामिक बैंक के काम करने का तरीका आम बैंकों से अलग है। जहां अमूमन बैंक अपने ग्राहाकों की जमा राशि पर ब्याज देते हैं और लोन पर ब्याज वसूलते हैं, वहीं यह बैंक न तो डिपॉजिट पर ब्याज देता है और न ही लोन पर ब्याज वसूलता है।
ये बैंक जमा राशि पर ब्याज न देकर बल्कि इस राशि को सही जगह निवेश करते हैं और इससे जो मुनाफा होता है उसमें से ग्राहकों को हिस्सा दिया जाता है। इस बैंक से लोन लेकर कोई भी स्मॉल स्केल बिजनेस शुरू कर सकता है। इस लोन पर बैंक ब्याज नहीं वसूलता, बल्कि सर्विस चार्ज के रूप में उसकी कमाई में से छोटी सी रकम लेता है। दरअसल इस्लाम में ब्याज लेना व देना हराम माना जाता है। ये बैंक इस्लाम के इसी उसूल पर काम करता है।
अभी तक भारत में इस बैंक की एक भी शाखा नहीं है, लेकिन जबसे भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सउदी अरब का दौरा करके आए हैं तब से ही यह अटकलें लगाई जा रही हैं कि भारत में भी इस बैंक की ब्रांच जल्दी ही खुल सकती है। आरबीआई ने देश में इन बैंकों को कारोबार करने की इजाजत पहले से ही दे रखी है।
दूसरी तरफ कुछ लोग भारत में इस बैंक का विरोध भी कर रहे हैं। विश्व हिंदू परिषद इन विरोधकर्ताओं में से एक है। उनका मानना है कि अगर इन बैंकों को भारत लाया गया तो भारत में आतंकवाद बढ़ सकता है।