भारत में 1 अप्रैल से मिलेगा दुनिया का सबसे साफ पेट्रोल और डीजल

नई दिल्ली : भारत (India) में एक अप्रैल (First April) से दुनिया (World) का सबसे साफ (Cleanest) पेट्रोल और डीजल (Petrol And Diesel) मिलेगा। ये दावा किया है इंडियन ऑयल कॉपरेशन (IOC) ने। आईओसी के मुताबिक दुनियाभर में भारत सबसे क्लीन पेट्रोल-डीजल अपनाने के लिए तैयार है और एक अप्रैल से नए उत्सर्जन मानक (Emmission Compliant) Euro-IV ग्रेड के पेट्रोल-डीजल की सप्लाई शुरू हो जाएगी। आपको बात दें कि भारत ने तीन साल पहले वाहन उत्सर्जन (Vehicular Emission) कम करने के लिए BS-4 से सीधे BS-6 मानक पर अमल करने का फैसला किया था। इससे भारत उन चुनिंदा देशों में शामिल हो जाएगा, जहां सबसे स्वच्छ पेट्रोल-डीजल का उपयोग होता है।

गौरतलब है कि क्लीन पेट्रोल और डीजल के प्रयोग से वाहनों से होने वाले प्रदूषण में काफी हद तक रोक लगेगी। इंडियन ऑयल के अध्यक्ष संजीव सिंह ने कहा, ‘करीब सभी परिशोधन संयंत्रों ने साल 2019 के आखिर तक BS-6 के अनुरूप पेट्रोल और डीजल का प्रोडक्शन शुरू कर दिया था। अब पेट्रोलियम कंपनियों ने देश में पेट्रोल और डीजल की आखिरी बूंद को BS-6 स्टैंडर्ड वाले ईंधन में बदलने का ठान लिया है।’ साथ ही उन्होंने कहा कि ‘हम एक अप्रैल से BS-6 पेट्रोल-डीजल की आपूर्ति करने के लिए काम कर रहे हैं। करीब सभी रिफायनरीज ने BS-6 ईंधनों की आपूर्ति शुरू कर दी है और यह ईंधन देश भर में भंडार डिपो तक पहुंचाए जा रहे हैं।’ स्वच्छ पेट्रोल-डीजल भंडार डिपो से पेट्रोल पंपों तक भी पहुंचने लगा है और आने वाले कुछ हफ्तों में सिर्फ स्वच्छ पेट्रोल-डीजल ही बिक्री के लिए उपलब्ध होगा।

गौरतलब है कि भारत ने साल 2010 में BS-3 स्टैंडर्ड को लागू किया था। इसके सात साल बाद देश ने BS-4 उत्सर्जन मानक को अपनाया। BS-4 के तीन साल बाद अब हमारा देश BS-6 उत्सर्जन मानक को अपनाने जा रहा है। सरकारी परिशोधन कंपनियों ने इस नए उत्सर्जन मानक के अनुकूल ईंधन तैयार करने के लिये करीब 35 हजार करोड़ रुपये का इन्वेस्टमेंट किया है।

Notifications    Ok No thanks