Coronavirus: बढ़ेगी महंगाई, बिगडे़गा घर का बजट !

नई दिल्ली: कोरोना वायरस (CoronaVirus) का कहर अभी थमने का नाम नहीं ले रहा है, इसकी वजह से 2112 लोग मौत के मुंह में समा चुके हैं। कोरोना वायरस (CoronaVirus) का असर लोगों की जिंदगी के साथ-साथ इंडस्ट्री (Industry) पर भी पड़ने लगा है, इसकी वजह से चीन में हेल्थ इमरजेंसी (Health Emergency) लागू है। चीन के कई शहरों में अलग अलग सेक्टर में काम करने वाली कंपनियों के प्लांट कुछ दिनों के लिए बंद कर दिये गए हैं। इससे ग्लोबल स्तर पर सप्लाई चेन बुरी तरह से बाधित हो रहा है। ऐसे में कोरोना वायरस के चलते दुनिया के कई देशों की इंडस्ट्री पर असर पड़ना शुरू हो चुका है, खासतौर से जिन देशों की घरेलू इंडस्ट्री जरूरी कंपोनेंट का चीन से आयात करती हैं। एक्सपर्ट मान रहे हैं कि सप्लाई चेन अगर इसी तरह से बाधित रही तो देश की कंज्यूमर ड्यूरेबल इंडस्ट्री पर बड़ा असर हो सकता है। ऐसे कयास भी लगाए जा रहे हैं कि आने वाले दिनों में TV, AC, फ्रिज और मोबाइल के दाम में भारी बढ़ोतरी हो सकती है।

बता दें कि कंज्यूमर ड्येरेबल सेग्मेंट में घरेलू कंपनियां मैन्युफैक्चरिंग के लिए कई जरूरी कम्पोनेंट चीन से आयात करती हैं लेकिन वहां प्रोडक्शन बंद होने से आयात नहीं हो पा रहा है. ऐसे में कंपनियों की इन्वेंट्री भी अब कमजोर होने लगी है. ब्रोकरेज हाउस एमके ग्लोबल के अनुसार बड़ी वोल्टास, एलजी, डायकिन जैसी बड़ी कंपनियों के पास अच्छी खासी इन्वेंट्री होती है, लेकिन कई छोटी और मझोली कंपनियों की इन्वेंट्री मजबूत नहीं होती है. ऐसे में अब उनकी इन्वेंट्री खत्म होने लगी है। हालात ऐसे ही रहें तो उन कंपनियों को भी प्रोडक्शन घटाना पड़ेगा, जिससे कीमतों में इजाफा देखा जा सकता है।

इंडस्ट्री पर पड़ने लगा है प्रभाव

कोरोना के साइड इफैक्ट भारत में दिखने भी लगे हैं, भारत में अब LED बल्ब और लाइट्स के दाम 10 फीसदी तक बढ़ने जा रहे हैं। इलेक्ट्रिक लैम्प एंड कम्पोनेंट मैन्युैक्चरर्स एसोसिएशन (ELCOMA) इंडिया का कहना है कि चीन में शटडाउन के चलते इलेक्ट्रिक कम्पोनेंट की सप्लाई बुरी तरह प्रभावित हुई है। ELCOMA के वाइस प्रेसिडेंट सुमित पदमाकर जोशी के अनुसार इलेक्ट्रॉनिक कम्पोनेंट्स खासकर चिप की बड़े पैमाने पर कमी हो सगती है। भारत में बनने वाले एलईडी बल्ब के 60 फीसदी कम्पोनेंट (मैकेनिकल) की घरेलू सप्लाई होती है, जबकि 30 फीसदी जिनमें चिप समेत इलेक्ट्रानिक ड्राइवर्स की जरूरत पड़ती है, उनका आयात चीन के वेंडर्स से होता है। इनकी अब कमी हो गई है, इसके चलते लाइटिंग प्रोडक्ट्स की कीमतों में 8 से 10 फीसदी तेजी आ सकती है।

मोबाइल फोन पर भी असर

हाल ही में आईफोन बनाने वाली कंपनी एप्पल ने बयान दिया है कि कोरोना वायरस के चलते दुनियाभर में आईफोन की सप्‍लाई बाधित रहेगी। कंपनी का कहना है कि चीन में कंपनी के मैन्‍यूफैक्‍चरिंग पार्टनर का उत्पादन सुस्त पड़ गया है। कंपनी ने यह भी कहा है कि उत्पादन घटने से कंपनी का फाइनेंशियन मौजूदा तिमाही में कमजोर रह सकता है। बता दें कि घरेलू मोबाइल कंपनियां भी कई जरूरी कम्पोनेंट चीन से ही मंगाती हैं. ऐसे में देश में भी मोबाइल प्रोडक्शन पर असर पड़ सकता है।

Notifications    Ok No thanks