Times Bull
News in Hindi

घर पर हो रही है डीजल की होम डिलिवरी, ऐसे करें ऑर्डर

Bengaluru becomes the first city to have home delivery of Diesel

अभी तक अगर आपकी गाड़ी में ईंधन खत्म हो जाए, तो आपको गाड़ी को ही घसीट कर पेट्रोल पंप तक ले जाना पड़ता है। कई पेट्रोल पंप पर तो बॉटल में भी पेट्रोल या डीजल नहीं दिया जाता। अगर आपसे कोई कहे कि अब आप पेट्रोल या डीजल की होम डिलिवरी करवा सकते हैं तो। जी हां बेंगलूरु देश का पहला ऐसा शहर बना है, जहां घर पर पेट्रोल या डीजल मंगवाया जा सकता है। यह ठीक वैसा ही है जैसा घर पर पिज्जा आदि ऑर्डर करना।

माईपेट्रोलपंप स्टार्टअप ने किया संभव ( Mypetrolpump app )

यह सब संभव किया है माईपेट्रोलपंप नामक एक स्टार्ट अप ने। 15 जून से इसकी शुरुआत हुई। आपको बता दें कि माईपेट्रोलपंप ने इसकी शुरुआत तीन डिलीवरी वाहनों से की है। एक वाहन की क्षमता 950 लीट है। अब तक इसके जरिए 5000 से ज्यादा ऑर्डर्स डिलीवर किए जा चुके हैं। डीजल की कीमत उस दिन की तय कीमत में डिलीवरी चार्ज जोड़कर लगाई जाती है।

एप से कर सकते हैं ऑर्डर

घर पर ईंधन मंगवाने के लिए ऑनलाइन, फोन कॉल के जरिए या फिर फ्री एप डाउनलोड करके ऑर्डर दिया जा सकता है। अगर आपको एक बार में 100 लीटर तक डीजल चाहिए, तो आपको 99 रुपए डिलीवरी चार्ज देना होगा। वहीं 100 लीटर से ज्यादा डीजल के लिए डीजल की कीमत के अलावा एक रुपया प्रति लीटर चार्ज देना होगा। माईपेट्रोलपंप के संस्थापक आशीष कुमार गुप्ता ने आईआईटी धनबाद से पढ़ाई की है। 32 वर्षीय आशीष का कहना है कि हम सितंबर 2016 से ही पेट्रोलियम मंत्रालय के संपर्क में हैं। अधिकारियों की स्वीकृति के बाद पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान से भी मुलाकात हुई। उन्होंने भी हमारे आइडिया को सराहा।

फिलहाल सिफ डीजल करते हैं सप्लाई

फिलहाल यह फर्म केवल डीजल सप्लाई करती है। आशीष ने बताया – पेट्रोल सिर्फ बाइक और कारों में काम आता है। जबकि डीजल कारखानों, बड़ी गाडिय़ों और खेती में भी काम आता है। डीजल की सालाना खपत 7.7 करोड़ मेट्रिक टन होती है, जबकि पेट्रोल की सालाना खपत 2.2 करोड़ मेट्रिक टन होती है। हमलोग भविष्य में पेट्रोल भी सप्लाई करेंगे।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.