नई दिल्ली: भारत की सभी ऑटो निर्माता कंपनियां अपने वाहन को अन्य पड़ोसी देशों में निर्यात करती हैं। यहां पड़ोसी देशों द्वारा कारों पर भारी टैक्स लगाया जाता है। ये टैक्स लगने के बाद इन ऑटो की कीमत भारत के मुकाबले करीब 3 गुना तक हो जाती है।

भारत में बिकने वाली कई कारों को पाकिस्तान में भी बेचा जाता हैं, पर दोनों जगह वाहनों की कीमत में जमीन आसमान का फर्क है। उदाहरण के लिए टाटा सफारी (Tata Safari) की बात करें तो भारत में इस एसयूवी की कीमत 15.25 लाख रुपये से लेकर 23.46 लाख रुपये (एक्स शोरूम) तक है वहीं नेपाल (Nepal) में इस कार की कीमत 63.56 लाख रुपये है जो यहां की तुलना में करीब 2.7 गुना ज्यादा है।

यह भी पढ़े:-Bajaj ने Blade नाम का करवाया रजिस्ट्रेशन, जल्दी लॉन्च होगी नई टू व्हीलर बाइक या इलेक्ट्रिक स्कूटर?

36 लाख में Kia Sonet:

नेपाल में जहां 6 और 7 सीटर टाटा सफारी (Tata Safari) की कीमत 83.49 लाख रुपये (एक्स शोरूम) से लेकर 1 करोड़ रुपये तक जाती है वहीं किया की माइक्रो SUV किया सोनेट (Kia Sonet) की कीमत 36.90 लाख नेपाली रुपये से शुरू होती है। भारतीय करंसी में करीब 23.10 लाख रुपये होती है|

आपको बता दे की भारत में किया सोनेट की कीमत 7.15 लाख रुपए है। जहां भारत में एक्सपोर्ट हुई कारों पर 100 प्रतिशत टैक्स लगता है वहीं नेपाल में महंगी कारों पर 298 प्रतिशत टैक्स लगाया जाता है।

पाकिस्तान में भी बहुत महंगी है कारें:

भारत की ही तरह पाकिस्तान में भी मारुति सुजुकी अपनी कई गाड़ी बेचती है। इनमें अल्टो (Alto) वैगनआर (Wagon R) और स्विफ्ट (Swift) शामिल हैं। पाकिस्तान में मारुति ऑल्टो (Maruti Alto) की कीमत 14.75 लाख पाकिस्तानी रुपए है यह कीमत भारतीय करंसी से 6 लाख रुपये होती है।

वहीं वैगनआर (Maruti Wagon R) की एक्सशोरूम कीमत 20.84 लाख पाकिस्तानी रुपए है जो भारतीय रुपए में करीब 8.47 लाख होता है। इसके अलावा पाकिस्तान में बिकने वाली वैगनआर पिछली जनरेशन वाली है वहीं भारत में कार की नई जनरेशन करीब 3 साल से बेची जा रही है। मारुति सुजुकी स्विफ्ट को पाकिस्तान में 27.74 लाख पाकिस्तानी रुपये पर बेचा जाता है, जो भारतीय करंसी में करीब 11.28 लाख रुपये होती है।

जरूर पढ़ें: शादी से पहले बनी मां, इन एक्ट्रेस की लिस्ट को देख उड़ जायेंगे होश

Recent Posts